सब्सक्राइब करें

उत्तर प्रदेश विशेष

yogi adityanath

योगी का गुस्सा सातवें आसमान पर, डीएम ने मांगी छुट्टी

30 March 2020

गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी में अधिकारियों के साथ चल रही समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद नाराज हुए। योगी ने नोएडा के अफसरों को जमकर लताड़ा।  ताजा मिली जानकारी के अनुसार सीएम योगी नोएडा में कोरोना के बचाव को लेकर बैठक कर रहे थे। बैठक के दौरान डीएम बीएन सिंह, सीएमओ को जमकर फटकारा। सीएम ने गुस्से में सीएमओ को यहाँ तक कह दिया कि आप चुप रहिए। योगी बोले ‘नोएडा के अफसरों की लापरवाही दिख रही’। सीजफायर कंपनी की तालाबंदी नहीं की, सीजफायर कंपनी पर कार्रवाई न होने से नाराज योगी ने कहा, दो महीने से क्या कर रहे थे।

दूसरे राज्यों में रहने वाले यूपीवासियों की मदद करेगी सरकार, मैदान में उतारी अफसरों की फौज

27 March 2020

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते हुए लॉकडाउन के कारण दूसरे प्रदेशों में काम करने वाले यूपी के लाखों लोग फंस गए हैं। ऐसे में न तो वे वहां रह पा रहे हैं और न ही घर लौट पा रहे हैं। ऐसे लोगों की मदद के लिए यूपी सरकार ने एक प्रभारी  प्रशासनिक अधिकारी व एक प्रभारी पुलिस अधिकारी की नियुक्ति की है। साथ ही इन अफसरों के मोबाइल नंबर भी जारी किए हैं।

labour

यूपी बॉर्डर पर पैदल आ रहे मजूदरों को सुरक्षित घर पहुंचाएगी योगी सरकार

27 March 2020

कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की। इस दौरान सभी ट्रेनें व बसों के संचालन पर भी रोक लगा दी गई। इससे दूर शहर में रह रहे लोगों की वापसी में दिक्कतें आ गई। बसें व ट्रेनें बंद होने के बाद लोग पैदल ही अपने घरों की तरफ निकल पड़े। ऐसे में कई सारी तस्वीरें भी सामने आईं जिसमें कई-कई किलोमीटर तक मजदूर पैदल चलते दिखे। अब योगी सरकार ने इसे संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश के बॉर्डर पर पैदल आ रहे मजदूरों और कर्मकारों के लिए मानवीय आधार पर विशेष व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके भी ये जानकारी दी। उन्होंने कहा कि कोरोना लॉकडाउन के दृष्टिगत मानवीय आधार पर प्रदेश के बॉर्डर पर पैदल आ रहे व अन्य राज्यों को पैदल जाने वाले मजदूरों व कर्मकारों हेतु संबंधित अधिकारियों को भोजन, पानी की व्यवस्था व स्वास्थ्य सम्बन्धी पूरी सावधानी बरतते हुए सबको सुरक्षित स्थानों पर भेजे जाने के निर्देश दिए गए हैं।

rammadir

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अस्थायी मंदिर में विराजमान हुए रामलला

25 March 2020

आज नवरात्र के पहले पावन दिन पर श्री राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला को सुबह पांच बजे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टेंट से निकालकर अस्थायी मंदिर में विराजित कर दिया है। राम मंदिर के निर्माण तक रामलला यहीं रहेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामलला को टेंट से निकाल स्वयं अपनी गोद में बैठाकर वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच अस्थाई मंदिर में विराजमान किया है। इसके बाद रामलला की आरती की गई। इस पूरे कार्यक्रम के दौरान कोरोना से सतर्कता बरतते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया गया। आरती व पूजा के बाद सीएम योगी गोरखपुर के लिए रवाना हो गए।रामलला के मंदिर में विराजमान होने के बीच राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास, महामंत्री चम्पत राय, ट्रस्ट के सदस्यगण निर्मोही अखाड़ा के महंत दिनेन्द्र दास, अयोध्या राज परिवार के मुखिया विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत कार्यवाह डॉ. अनिल मिश्र, जिलाधिकारी अनुज झा सहित कई और भी संत उपस्थित रहे। कोरोना वायरस के डर से बाकी श्रद्धालुओं के आने पर मनाही थी।

मोदी और योगी की जनता से अपील, घंटाघर और शाहीनबाग हुआ खाली

23 March 2020

कोरोना अब पूरे विश्व के साथ भारत में भी धीरे धीरे अपने पैर पसार रहा है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के ताजा आंकड़ो में अब भारत में कोरोना पॉज़िटिव लोगों की संख्या 415 तक पहुँच चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश और प्रदेश वासियों से आज पुनः अपील की। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं।'

yogi adityanath knock down

कनिका कपूर के बाद कोरोना पर योगी सरकार की पैनी नज़र

22 March 2020

कनिका कपूर मामले एक बड़ी लापरवाही आज देखने को मिली जब कोरोनो वायरस बीमारी होने के बाद कनिका कपूर ने पहले इसे छुपाया इसके बाद लखनऊ के लापरवाह सीएमओ ने बिना जांच कराये ग़लत तथ्यों पर एफआईआर करा दी।  कनिका कपूर मामले में सीएमओ ने एफआईआर संशोधन के लिए दूसरा शिकायती पत्र भी लिखा। उस शिकायती पत्र में सीएमओ ने अब बताया कि 11 मार्च को लंदन से मुंम्बई पहुंचने पर कनिका कपूर की मुम्बई एयरपोर्ट पर हुई थी कोरोनो टेस्ट। मुंबई एयरपोर्ट के डॉक्टर ने कनिका को कोरोंटाइन  रहने के निर्देश भी दिये थे। इसके बावजूद कनिका 11 मार्च को मुम्बई से लखनऊ आ गई।  

ram navmi cancel

सीएम के सख्त आदेश के बाद रामनवमी मेले पर लगा अघोषित प्रतिबंध

21 March 2020

पीएम मोदी की कोरोना पर देश वासियों को सम्बोधन के बाद पूरे देश के अलग अलग राज्यों में एहतियात बरतने शुरू हो गये। देश की राजधानी दिल्ली से लेकर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ तक सरकार ने कड़े फैसले लेते हुये जनता से अपील की, जनता अपने घरों में रहे जब तक कोई विशेष काम न हो तो बाहर न निकले।    इसी बीच एक बड़ी खबर अयोध्या से आई है जहां सरकार ने कोरोना के चलते एक बड़े धार्मिक कार्यक्रम को स्थगित कर दिया। इसके साथ ही अयोध्या में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।  ये प्रतिबंध 2 अप्रैल तक लगाया गया है, इसके साथ ही बाहर से आ रहे श्रद्धालु और दर्शनार्थियों को अयोध्या जनपद के बॉर्डर पर ही रोके जाने के बाद वापस कर दिया जाएगा।

korona negative

कनिका कपूर से मिलने वालों की जांच के बाद राजनीतिक गलियारों में मची हलचल

21 March 2020

कनिका कपूर के लखनऊ आने के बाद से लखनऊ के कई लोगों में कोरोना होने की संभावना बढ़ गई थी। इसी संदेह में बीती रात प्रसाशन ने कई बड़े कदम लिए जिसमें कनिका कपूर के ऊपर एफआईआर हो या उन सभी लोगों की जांच जो हो जो कनिका के संपर्क में आए।ताजा खबर के अनुसार जितने लोग भी कनिका के संपर्क में आए थे उनमें उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह भी थे। लेकिन खुशी की बात ये है कि उनकी जांच के बाद रिपोर्ट निगेटिव आई, जिसके बाद लोगों ने राहत कि सांस ली।

kanika kapoor

यूपी में कोरोना को लेकर घोर लापरवाही, कनिका के बाद आईएएस की दो बेटियाँ भी संदिग्ध

21 March 2020

कोरोना का रोना अब विश्व भर में फैल चुका है लेकिन कुछ जगह कोरोना को लेकर घोर लापरवाही भी अब सामने देखने को मिल रही है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कनिका कपूर के कोरोना पॉज़िटिव होने के बाद कई चेहरे अब सामने आ रहे है जिन्हें कोरोना होने का डर सता रहा है।

chief minister yogi adityanath

कोरोना के चलते प्रदेश के 35 लाख मजदूरों को एक-एक हजार रुपये दे रही योगी सरकार

21 March 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने कोरोना के चलते अपनी रोजी-रोटी से वंचित हुए मजदूरों की आर्थिक मदद के लिए एक बड़ा कदम उठाया है। योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को एक प्रेस कांफ्रेंस करते हुए प्रदेश के करीब 35 लाख मजदूरों को तत्काल 1000 रुपये देने के निर्देश दिए है। इसमें  15 लाख दिहाड़ी मजदूर और 20.37 लाख निर्माण श्रमिक शामिल हैं। 

सोसाइटी से

अन्य खबरें

new zealand team

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सुषमा स्वराज का निधन, अचानक मृत्यु से पूरे देश में उठी शोक की लहर

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर