देहरादून में एक खुखरी (चाकू जैसा धारदार हथियार) निर्माता को अमेरिकी सेना से ऑर्डर मिला है। इस दुकानदार का परिवार पिछले 100 वर्षों से खुखरी बनाने और और उसे सप्लाई करने का काम करता है। सैन्य ऑपरेशन में इसकी उपयोगिता को देखते हुए अमेरिकी सेना ने यह कदम उठाया है। उन्होंने इसके मालिक को 60 खुखरी बनाने का ऑर्डर दिया है। आपको बता दें कि खुखरी का इस्तेमाल भारतीय सेना भी कई महत्वपूर्ण युद्धों के दौरान कर चुकी है। इसी के चलते अब अमेरिकी सेना ने यह कदम उठाया है। अमेरिका की सेना खाड़ी देशों में अपनी सैन्य कार्रवाई के दौरान इसका उपयोग करेगी।

पिछले 100 साल से बना रहे हैं खुखरी

देहरादू के डाकरा बाजार में खुखरी बनाने वाले की दुकान है। जहां अच्छी क्वालिटी की खुखरी तैयार की जाती है। इस दुकान के मालिक सतीश हैं। वह बताते हैं कि अभी हाल ही में उन्हें अमेरिकी सेना के एक अधिकारी ने 60 खुखरी बनाने का ऑर्डर दिया है। वह बतातो हैं कि उनकी दुकान करीब एक शताब्दी पुरानी है। उसके पिता भी इस व्यवसाय में थे। उनकी बनाई गई खुखरी का उपयोग खाड़ी देशों में अमेरिकी सेना के ऑपरेशन्स में किया जाएगा। वह बताते हैं कि भारतीय सेना भी खुखरी का प्रयोग करती है। सेना ने चीन और और पाकिस्तान के साथ युद्ध के दौरान भी खुखरी का प्रयोग किया था।

भारतीय सेना करती है प्रयोग

खुखरी का प्रयोग गोरखा बड़े पैमाने पर करते आए हैं। यह उनका प्रमुख और पारंपरिक हथियार रहा है। सतीश बताते हैं कि उनकी दुकान से पहले से ही भारतीय सेना की विभिन्न रेजिमेंटों में खुखरी की आपूर्ति की जाती रही है। इसकी खासियत और छोटे आकार की वजह से उपयोगिता को देखते हुए खुद अमेरिकी सेना के मरीन कमांडो ने उनसे मिलकर यह ऑर्डर दिया है।

वह बताते हैं कुछ दिनों पहले अमेरिकी सेना का एक जवान और अधिकारी उनकी दुकान पर खुखरी के बारे में जानकारी लेने के लिए आए थे। उन्होंने इसे रानीखेत में भारतीय सेना के साथ हुए संयुक्त सैन्य अभ्यास के दौरान देखा था, जिससे वह काफी प्रभावित हुए थे। उन्होंने अमेरिकी अधिकारी को हाथ और मशीन दोनों ही तरीके से बनाई गई खुखरी को दिखाया था। जिसमें उन्हें हाथ से बनाई गई खुखरी काफी पसंद आई थी। उन्होंने आगे भी ऑर्डर देने का वादा किया है।

Zeen is a next generation WordPress theme. It’s powerful, beautifully designed and comes with everything you need to engage your visitors and increase conversions.