सब्सक्राइब करें

देश विदेश

Chief guest al sisi

गणतंत्र दिवस में मिस्र के राष्ट्रपति होंगे मुख्य अतिथि, क्या होती है चुनने की प्रक्रिया

02 December 2022

मिस्र के राष्ट्रपति अल-सिसी इस बार गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हो रहे हैं। पिछले 2 साल से कोविड महामारी के कारण हमारे देश में किसी को गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि के तौर पर नहीं बुलाया गया था। 

FYUGP

अब 4 साल में होगा ग्रेजुएशन, जान लें ये नया नियम

28 November 2022

अभी तक बीए, बीएससी और बीकॉम जैसे अंडर ग्रेजुएट कोर्स करने वाले विद्यार्थियों को तीन साल में ही ग्रेजुएशन की डिग्री मिल जाती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। आगामी शैक्षणिक सत्र 2023-2024 से सभी उच्च शिक्षा संस्थानों में अपनाए जाने वाले चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रम यानी एफवाईयूजीपी की रूपरेखा को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने अंतिम रूप दे दिया है। 

Railway

रेलवे में जल्द होंगी भर्तियां, रिटायर्ड लोगों को फिर मिलेगी नौकरी

19 September 2022

भारतीय रेलवे में काम करके रिटायर लोगों के लिए खुशखबरी है। अगर आप घर पर बैठ कर बोर हो रहे हैं तो ये मौका आपके लिए बहुत अच्छा है। रेलवे में सुपरवाइजर के पद से रिटायर हुए लोगों के लिए भर्तियां निकली हैं। रेलवे सभी मंडलों में गति शक्ति यूनिट (जीएसयू) गठित करने जा रही है। इस यूनिट के में रेलवे से रिटायर सुपरवाइज़रों की भर्ती होगी। इन सुपरवाइजरों के लिए एक मानदेय तय होगा और उसी के आधार पर भुगतान किया जाएगा। रेलवे में जो मामले काफी समय से लंबित हैं वे इन्ही सुपरवाइजरों की मदद से सुलझाए जाएंगे। 

Seat belt

दिल्ली में अब पीछे की सीट पर बेल्ट लगाना भी अनिवार्य, लापरवाही पर लगेगा बड़ा जुर्माना

07 September 2022

रविवार दोपहर टाटा संस के पूर्व चेयरमैन साइरस मिस्त्री की पालघर में तेज रफ्तार कार दुर्घटना में मौत हो गई। महाराष्ट्र में पुलिस अधिकारियों ने कहा कि मिस्त्री पिछली सीट पर थे और उन्होंने सीट बेल्ट नहीं पहनी हुई थी। पुलिस ने बताया “पीछे बैठे मृतकों ने सीट बेल्ट नहीं पहनी हुई थी, जिसके कारण उनके एयरबैग नहीं खुले। जब कार दुर्घटनाग्रस्त हुई, तो वे आगे और पीछे की सीटों के बीच जाम हो गए।"

Techeejuno

अब नहीं फटेंगे गाड़ी के टायर, ये कंपनी लेकर आई है नई तकनीक

05 September 2022

हर साल गाड़ी का टायर फटने से हज़ारों लोगों की जान चली जाती है। हाल में बिजनेस टायकून साइरस मिस्त्री की मौत के मामले में भी शुरुआती खबरें टायर फटने से हुए हादसे की ही आ रही थीं। संघ प्रमुख मोहन भागवत और क्रिकेटर सुरेश रैना जैसी कई बड़ी हस्तियों की गाड़ी का टायर फटने की घटनाएं हो चुकी हैं। वे किस्मत वाले थे जो इन हादसों में बच गए लेकिन ऐसे हादसों में जान गंवाने वालों की संख्या भी काफी अधिक है। अभी तक किसी भी बड़ी कंपनी ने इस तरह के टायर नहीं बनाए जो इस तरह के हादसों को रोकने में कारगर हों। लेकिन TycheeJuno ये टेक्नोलॉजी भारत में ले आई है। 

Half circles media

कंपनी को ब्रांड बनाती है हाफ सर्कल्स मीडिया

29 August 2022

पिछले एक दशक में सोशल मीडिया और डिजिटल मार्केटिंग तेज़ी से आगे पहुंचने वाले वर्टिकल्स में से एक बन गया है। कई लोगों ने, कई कंपनियों ने इस पर काम करना शुरू कर दिया था। सोशल मीडिया और डिजिटल मार्केटिंग की मदद से आजकल लोग अपने बिजनेस को, अपने ब्रांड को ऊंचाइयों पर पहुंचा रहे हैं। और इसमें उनकी मदद कर रहे हैं वो लोग जो इस फील्ड के एक्सपर्ट्स हैं। इन्हीं में से एक है हाफ सर्कल्स मीडिया प्राइवेट लिमिटेड। पिछले कुछ सालों में ही इस कंपनी ने अपने काम से बुलंदियों को छुआ है। इसी का नतीजा है कि हाल ही में हाफ सर्कल्स मीडिया प्रा. लि. के सीईओ निखिल श्रीवास्तव को देश के 50 टॉप लीडर्स की लिस्ट में शामिल किया गया है।

War room

इलेक्टोरल पॉलिटिक्स की नई उम्मीद है डिजिटल वॉर रूम

10 August 2022

वजह कोविड हो या तेज़ी से बदलती टेक्नोलॉजी, आजकल सब कुछ ऑनलाइन ही हो रहा है। डॉक्टर्स से ट्रीटमेंट कराना हो या बच्चों को पढ़ाना हो, सब ऑनलाइन है। ऐसे में हमारे राजनीतिक दल क्यों पीछे रहते। हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में जब कोरोना की वजह से रैली करने पर प्रतिबंध लग गया था तब ज़्यादातर बड़ी पार्टियों ने वर्चुअल रैली आयोजित कीं। इन रैलियों में लोगों ने उसी तरह बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया जैसे सामान्य रैली में लेते थे, बस इस बार तरीका थोड़ा अलग था। लोग एक मैदान में पड़ी कुर्सियों पर बैठ कर अपने नेता को सुनने के बजाय अपने घर पर बैठकर मोबाइल या लैपटॉप के ज़रिए उन्हें सुन रहे थे। हो सकता है कि ऐसा पहली बार हुआ हो लेकिन आने वाला ज़माना इसी का है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए लखनऊ के पॉलिटिकल स्ट्रैटजिस्ट निखिल श्रीवास्तव ने एक ऐप लॉन्च की है - वॉर रूम। 

Monkeypox

मंकी पॉक्स से निपटने के लिए तैयार केंद्र सरकार, यूपी सरकार भी अलर्ट मोड़ पर

26 July 2022

पूरी दुनिया में कोरोना के खतरे के बीच अब लोग मंकी पॉक्स को लेकर भी डरे हुए हैं। फ्रांस में तो मंकी पॉक्स के 1700 से ज़्यादा मामले सामने आ चुके हैं। भारत में भी अभी तक मंकी पॉक्स के 4 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इस बात से आम जनता डरी हुई है और सरकार भी चिंता में है। इस महामारी को विश्व स्वास्थ्य संगठन हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर चुका है। दिल्ली और केरल में मंकीपॉक्स के मरीजों की पुष्टि हुई है।

Mbbs students

एमबीबीएस के छात्र अब हिंदी में भी कर सकेंगे पढ़ाई

25 July 2022

हिंदी भाषी राज्यों में अभी भी बड़ी तादात में विद्यार्थी हिंदी मीडियम से ही पढ़ाई करते हैं। इनमें से कुछ इंजीनियर बनना चाहते हैं तो कुछ डॉक्टर, लेकिन ज़्यादातर प्रोफेशनल कोर्सेज इंग्लिश में होने की वजह से इन्हें बहुत दिक्कत होती है। हिंदी मीडियम से पढ़ने वाले जो बच्चे डॉक्टर बनने का सपना देख रहे हैं उनके लिए मध्य प्रदेश सरकार ने एक अच्छा कदम उठाया है। 

Kumar Keshav

यूपी मेट्रो के एमडी रहे कुमार केशव की नई पारी, बने जर्मन कंपनी के सीईओ

15 July 2022

यूपी मेट्रो के एमडी रहे कुमार केशव ने अब नई दिल्ली में डॉयचू बान इंजीनियरिंग एंड कंसल्टिंग इंडिया के साथ अपनी नई पारी शुरू की है। कम्पनी उन्होंने बतौर सीईओ यानी मुख्य कार्यकारी अधिकारी के पद पर ज्वाइन की है।  डॉयचू बान (Deutsche Bahn) (DB) एक विश्व प्रसिद्ध जर्मन कंपनी है, जिसके पास दुनिया भर के विभिन्न देशों में रेलवे परियोजनाओं के संचालन और रखरखाव में विशेषज्ञता है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम या एनसीआरटीसी ने हाल ही में 12 साल के लिए 82 किलोमीटर लंबे दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ क्षेत्रीय रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (आरआरटीएस) कॉरिडोर के संचालन और रखरखाव के लिए डीबी इंडिया के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। भारत में रेल-आधारित ट्रांजिट सिस्टम आमतौर पर सार्वजनिक संस्थाओं द्वारा संचालित किए जा रहे हैं जैसे कि दिल्ली मेट्रो, लखनऊ मेट्रो आदि। देश में अब तक इस क्षेत्र में निजी क्षेत्र की सीमित भागीदारी रही है। डॉयचू बान इंजीनियरिंग एंड कंसल्टेंसी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड या डीबी इंडिया जर्मनी की राष्ट्रीय रेलवे कंपनी, डॉयचू बान एजी की सहायक कंपनी है। ऑपरेटर के रूप में डीबी की नियुक्ति से भारतीय मेट्रो और रेल ओ एंड एम उद्योग के लिए दुनिया भर में उपलब्ध ज्ञान, सर्वोत्तम अंतरराष्ट्रीय प्रथाओं और प्रबंधकीय सेवाओं के हस्तांतरण का मार्ग प्रशस्त होगा। रिकॉर्ड समय में लखनऊ और कानपुर मेट्रो को लागू करने के अपने अनुभव के साथ कुमार केशव अब दिल्ली से मेरठ तक भारत के पहले आरआरटीएस कॉरिडोर के कुशल और लागत प्रभावी संचालन और रखरखाव के लिए भारत में डीबी टीम का नेतृत्व करेंगे।

सोसाइटी से

अन्य खबरें

Wheat Harvesting: बारिश और तेज हवाओं ने किसानों के अरमानों पर फेरा पानी

'हमें बीमारी से लड़ना है, बीमार से नहीं'

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर