सब्सक्राइब करें

टेक्नोलॉजी

Qualcomm

क्या आप भी यूज करते हैं क्वालकॉम प्रॉसेसर वाला स्मार्टफोन? हैकिंग का है खतरा

10 August 2020

आप में से कई लोगों के मोबाइल फोन में क्वालकॉम प्रॉसेसर होगा। अगर ऐसा है तो आपके फोन की जासूसी हो सकती है। दरअसल, क्वालकॉम प्रॉसेसर की चिप में बग आने की खबर है। ऐसा कहा जा रहा है कि इस बग से लगभग 300 करोड़ एंड्रॉयड स्मार्टफोन की सिक्योरिटी पर खतरा है।

bugati

दुनिया की सबसे महंगी कार जिसकी कीमत में आएंगे 30 से ज्यादा हेलीकाप्टर

07 August 2020

कार के शौकिनों के लिए एक अच्छी खबर है। यदि आप तेज रफ्तार कार चलाना या तेज रफ्तार कार चलते देखना पसंद करते हैं तो ये खबर आपके लिए ही है। दुनिया की सबसे महंगी कार, या यू कहें कि सबसे तेज चलने वाली कार अब बाजार में आ चुकी है। जी हाँ हम बात कर रहे हैं Bugatti La Voiture Noire की। इस कार की कीमत तो वैसे इतनी है कि उसी कीमत में आप 750 हुंडई क्रेटा एसयूवी गाडियाँ खरीद सकते हैं। इसके अलावा इस कार की कीमत इतनी है कि इतने में आप 30 से ज्यादा R-22 हेलीकाप्टर खरीद सकते हैं।     बेहद आकर्षक लुक और दमदार इंजन के साथ लैस इस कार की इंटरनेशनल मार्केट में कीमत 8.5 मिलियन यूरो है। अगर इसे भारतीय पैसों में देखें तो इस कार की कीमत तकरीबन 75 करोड़ रुपये बताई गई है। इस कार को दुनिया की सबसे महंगी कार के रूप में बताया जा रहा है। इस कार को बनाने वाली कंपनी ने कहा है कि वो Bugatti के केवल 10 मॉडल ही बनाएगी।  मीडिया रिपोर्ट्स में Bugatti La Voiture Noire के बारे में बताया गया है कि इस कार की कीमत इसकी खूबियों के आगे कम है। यह एक स्पोर्ट्स कार है इसमें वही इंजन लगाया गया है जो शिरॉन स्पोर्ट में लगाया गया था। आपको बता दें कि शिरॉन स्पोर्ट दुनिया की सबसे तेज चलने वाली कारों में से एक है। कंपनी ने Bugatti La Voiture Noire में 8 लीटर की क्षमता का 16 सिलिंडर युक्त पेट्रोल इंजन लगाया है। दिखने में बेहद ही खास स्पोर्टी लुक वाली इस जबर्दस्त कार की स्पीड 380 किलोमीटर प्रतिघंटा है। इस कार की सबसे चौकाने वाली बात ये है कि मात्र 2.4 सेकेंड में ये कार 0 से 60 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार पकड़ सकती है। Bugatti La Voiture Noire  में कंपनी ने जिस इंजन का प्रयोग किया है वही बुगाटी Chiron में भी इस्तेमाल किया गया है। वैसे ये यह कार भी Chiron पर ही लगभग बेस्ड है लेकिन इसका व्हीलबेस पहले से ज्यादा बड़ा है। वो इसलिए ताकि कार के भीतर बेहतर स्पेस मिल सके। इस कार में दो दरवाजे है, कार में कंपनी ने 6 एग्जॉस्ट यानि कि साइलेंसर का प्रयोग किया है। इसके साथ ही इसमें 7 स्पीड डुअल क्लच ट्रांसमिशन गियरबॉक्स भी लगाया गया है। शानदार खूबियों वाली इस खास स्लीक डिजाइन वाली कार को एरोडायनमिक डिजाइन दिया गया है ताकि यह कार हवा को चीरती हुई आगे बढ़ सके। इस कार में कार्बन फाइबर पैनल्स के साथ ही कार के पिछले हिस्से में LED लाइट्स को लगाया गया है। Bugatti La Voiture Noire  को बनाने वाली कंपनी का दावा है कि यह कार अब तक की सबसे ज्यादा आरामदायक कार है।

reels

टिकटॉक के चाहने वालों के लिए आया 'इंस्टाग्राम का रील्स'

06 August 2020

भारत चीन झड़प के बाद भारत ने जून के आखिरी सप्ताह में चीनी एप टिकटॉक समेत 59 चीनी एप को बैन कर दिया था। और फिर इसके बाद से ही टिकटॉक जैसे कुछ देसी एप वायरल होने शुरू हो गए। और अब इंस्टाग्राम ने अपने एक नए फीचर की मदद से दुनिया के तमाम यूजर्स को 15 सेकेंड का वीडियो रिकॉर्ड और एडिट कर शेयर करने का नया प्लेटफार्म दिया है। भारत के टिकटॉक जैसे 59 चीनी एप पर प्रतिबंध के बाद फेसबुक के मालिकाना हक़ वाली कंपनी इंस्टाग्राम ने रील्स नाम से एक नया फीचर लॉन्‍च किया, फेसबुक ने लगभग टिकटॉक जैसा काम करने वाला फीचर अपने इंस्टाग्राम प्लेटफार्म पर पेश किया है। दुनिया के करोड़ों यूजर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से 15 सेकेंड के छोटे वीडियो साझा कर सकेंगे। रील्स नाम के इस एप में ऑडियो एड करने के अलावा कंपनी ने यूजर को विजुअल इफेक्ट एड करने का विकल्प भी दिया है। यूजर चाहे तो अपना विडियो बनाकर अपने फॉलोअर्स के साथ इंस्टाग्राम एप पर इसे शेयर भी कर सकता है। कंपनी ने एक्सप्लोर नाम के सेक्शन में इसके लिए अलग से एक सेक्शन भी बनाया है। जिससे यूजर्स और अधिक जानकारी ले सकता है।  इंस्टाग्राम ने अपने नए एप रील्स को ज्यादा से ज्यादा लोगों के बीच पहुँचाने के लिए इंस्टाग्राम की स्टोरी फीचर में भी इसे शेयर करने का ऑप्शन दिया है। इंस्टाग्राम ने अपनी इस सुविधा को थोड़ी देर तक के लिए ही ग्राहकों को देने का मन बनाया है। इंस्टाग्राम स्टोरी फीचर में यूजर किसी फोटो या वीडियो को 24 घंटे के लिए डाल सकता हैं उसके बाद वह पोस्ट खुद ही गायब हो जाएगी।  आपको बता दें कि ब्राजील में पिछले साल नवंबर से ही 'रील्स' की टेस्टिंग की जा रही थी। भारत के साथ फ्रांस और जर्मनी में पिछले महीने इसकी टेस्टिंग शुरू हुई थी। दो साल पहले फेसबुक ने साल 2018 में टिकटॉक के मुकाबले एक एप 'लासो' लॉन्च किया था जो बाद में बंद कर दिया गया। पूरे विश्व में चीनी एप्स को लेकर विरोध जारी है। डेटा चोरी के भय के कारण ही भारत जैसे देश ने टिकटॉक पर बैन लगाया है। इस मौके पर अगर फ़ेसबुक रील्स की पेशकश से भारतीय बाजार में अपनी पकड़ मजबूत करने की कोशिश करता है तो उसे बड़ी मदद मिल सकती है। भारत जैसे बड़े देश में चाइना के एप्स का बैन होना चाइना के लिए एक तगड़ा झटका है जिससे चाइना का उबरना मुश्किल है। 

trump

टिकटॉक : ट्रंप की हाँ के बाद माइक्रोसॉफ्ट खरीद सकता है अमेरिकी शाखा?

04 August 2020

दुनिया की बड़ी कंपनियों में से एक माइक्रोसॉफ्ट क्या अब  टिकटॉक को खरीदने जा रही है? माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने इस सवाल के जवाब में रविवार को कहा, कि वह चीनी कंपनी बाइटडांस से उसके सबसे लोकप्रिय वीडियो एप 'टिकटॉक' की अमेरिकी शाखा को खरीदने के लिए बातचीत शुरू कर दी है।माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की तरफ से इस पुष्टि के साथ ही यह भी कहा गया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से खरीद के संबंध में सुरक्षा और सेंसरशिप को लेकर उनकी चिंताओं पर चर्चा भी की जा चुकी है। माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि कंपनी और बाइटडांस ने अमेरिका, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में टिकटॉक की सेवा का मालिकाना हक और उसको चलाने को लेकर एक समझौता करने की मंशा को लेकर सिर्फ एक नोटिस दिया है।  मीडिया से बातचीत में माइक्रोसॉफ़्ट कंपनी ने ये भी कहा कि उसे उम्मीद है कि यह बातचीत 15 सितंबर तक पूरी हो जाने की संभावना है। भारत में पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा चीन-भारत झड़प के बाद चाइना के 59 एप्स को बैन कर दिया गया था। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भी पिछले दिनों कहा कि वह जल्द ही अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगा देंगे। माइक्रोसॉफ़्ट कंपनी ने कहा कि ट्रंप और हमारे सीईओ सत्य नडेला ने बातचीत की है और जल्दी ही इस पर कोई बड़ा निर्णय लिया जाएगा। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने एक बयान में बाद में ये कहा गया कि, "हम राष्ट्रपति ट्रम्प की चिंताओं पर ध्यान देने के महत्व को अच्छी तरह से समझते है। हमारा पूरा प्रयास होगा कि टिकटॉक का अधिग्रहण पूरी सुरक्षा और समीक्षा तथा अमेरिका को आर्थिक लाभ उपलब्ध कराने के उद्देश्य के साथ ही किया जाएगा।" मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अभी व्हाइट हाउस ने माइक्रोसॉफ्ट के बयान पर तुरंत कोई टिप्पणी नहीं दी है। भारत में टिक-टॉक बंद होने के बाद चाइना को अरबों रुपए का नुकसान हुआ है। इसी डर के कारण चाइना अब अमेरिका में खुद को मजबूत बनाने के लिए अपनी राष्ट्रीय पकड़ को मजबूत बनाए रखना चाहता है। 

Anand Mahindra

ट्रेन की पटरियों पर चलने वाली कमाल की साइकिल, आनंद महिंद्रा ने की तारीफ

04 August 2020

मंहिद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा सोशल मीडिया पर कुछ न कुछ अनूठा और नया शेयर करने के लिए मशहूर हैं। अक्सर उनके ट्विटर हैंडल पर ऐसे इनोवेशंस के पोस्ट होते हैं जो वायरल हो जाते हैं। भारतीयों के हुनर को अपने सोशल मीडिया के जरिए वह अक्सर पूरी दुनिया को दिखाते रहते हैं। हाल ही में उन्होंने एक वीडियो ट्वीट किया है जो रेल की पटरियों पर चलने वाली साइकिल है। उनके बाकी ट्वीट्स की तरह ये ट्वीट भी वायरल हो गया है। इस नई तरह की कमाल की साइकिल के लोग मुरीद हो गए हैं। 

royal enfield

कोरोना : बुलेट के मालिकों कों घर बैठे मिलेगी 'सर्विस ऑन व्हील्स' की सुविधा

29 July 2020

कोरोना (corona) काल के दौरान जहां एक तरफ सरकार लोगों के हितों को ध्यान में रखकर फैसले कर रही है, वहीं प्राइवेट कंपनियाँ भी अपने उपभोक्ताओं को समय समय पर घर बैठे ही सुविधाएं देने की कोशिश कर रही है। यदि आप बुलेट (bullet) गाड़ी रखते हैं और लॉकडाउन (lockdown) के कारण उसकी सर्विसिंग नहीं करवा पाएँ है तो अब चिंता मत कीजिये। भारत में बुलेट बनाने वाली कंपनी रॉयल इनफील्ड (royal enfield) ने अपने ग्राहकों के लिए डोर स्टेप सर्विस फैसिलिटी देने के लिए 'सर्विस ऑन व्हील्स' (Service On Wheel) को लांच किया है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए रॉयल एनफील्ड (royal enfield) ने विशेष रूप से डिजाइन की गई 800 बाइक को देशभर की तैनात किया है। सर्विस ऑन व्हील्स (Service On Wheel) का बुलेट के ग्राहकों के लिए सबसे बड़ा फायदा ये है कि उन्हें अपनी बाइक के लिए सुरक्षित और बिना झंझट के सर्विस जैसी सुविधा मिल सकेगी। रॉयल एनफील्ड (royal enfield) की तरफ से अपने एक बयान में यह कहा गया है कि वह अपने कीमती ग्राहकों को उनके घर पर ही जरूरी सुविधाएं देना चाहती है।  इस सुविधा को लोगों तक पहुँचाने के लिए रॉयल एनफील्ड (royal enfield) ने जो विशेष बाइक डिजाइन की है उसमें टूल्स, इक्विपमेंट्स और स्पेयर पार्ट्स आदि रखने की पूरी व्यवस्था की है। एक बुलेट की एक बार की सर्विस और रिपेयर में जिन चीजों की आवश्यकता पड़ती है उनमें से 80 फीसदी चीजे इस सर्विस बाइक पर उपलब्ध होंगी। पूरे देश के रॉयल एनफील्ड (royal enfield) के ग्राहकों कों इस सुविधा की मदद से घर पर बुलेट की मेंटेनेंस सर्विस, छोटे-मोटे रिपेयर, क्रिटिकल कंपोनेंट सर्विस, पार्ट्स रिप्लेसमेंट, इलेक्ट्रिकल डायग्नोसिस के साथ ही किसी भी तरह की सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। मीडिया से बातचीत में रॉयल एनफील्ड के चीफ कमर्शियल ऑफिसर ललित मलिक ने कहा, "हम बुलेट खरीदने वाले ग्राहकों की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम बुलेट रखने वाले ग्राहकों को ओनरशिप का बेहतरीन अनुभव उपलब्ध कराना चाहते हैं। एक ब्रांड के रूप में बुलेट गर्व का प्रतीक है और हम अपने ग्राहकों के लिए इस गर्व को मेंटेन रखना चाहते हैं। पिछले साल हमने 600 नए स्टूडियो स्टोर शुरू किए थे जिससे बुलेट के ग्राहक ब्रांड का रीटेल एक्सपीरियंस ले सकें। यह देश के टियर 2-3 शहरों में शुरू किया गया था।"देश में बढ़ते कोरोना के मामलों कों देखते हुये कंपनी ने ग्राहकों के लिए अपने वाहन की बेहतरीन तरीके से देखभाल करने के लिए सर्विस ऑन व्हील्स लांच किया है। कंपनी ने कहा है कि जिन उपभोक्ताओं कों हमारी इस सुविधा का लाभ उठाना है वो रॉयल एनफील्ड द्वारा दी गयी डीलरशिप से संपर्क कर सकते हैं। 

whatsapp services

WhatsApp अब देने जा रहा है पेमेंट, लोन व इंश्योरेंस की भी सुविधाएं

24 July 2020

आजकल कर किसी के पास स्मार्टफोन है और उसमें भी हर किसी के पास मैसेजिंग एप व्हाट्स एप (whatsapp) है। व्हाट्स एप लगातार अपने यूजर्स को नए-नए फीचर देता रहता है और अब वो एक नई सर्विस देने की तैयारी में है।अभी तक आप इसके चरिए चैटिंग, वीडियो कॉल (video call), करते थे लेकिन अब आप इसके जरिए अपने बहुत से और भी जरूरी काम निपटा सकेंगे। जल्दी ही व्हाट्स एप पेमेंट (payment) की सुविधा भी देने जा रहा है। इसके साथ ही तैयारी में है।   फिलहाल तो ये एक पायलट प्रोजेक्ट चलाएगा जिसके जरिए बीमा, फाइनेंस व पेंशन जैसी सुविधाएं दी जाएगी और उसके बाद ही इसे शुरू करेगा। लोन देने के लिए व्हाटस एप बैकों के साथ टाइअप करेगा। इसके बाद अब कम आमदनी वाले कर्मचारियों भी इंश्योरेंस और पेंशन की सुविधाएं उठा सकेंगे। शुरूआती दौर में ये ग्रामीण क्षेत्रों में पेंशन व इंश्योरेंस की सुविधा देगा और उसके बाद नेटवर्क बढ़ाया जाएगा। बता दें कि भारत में व्हाट्स एप के 400 मिलियन यूजर्स हैं जो ग्रामीण इलाकों में भी हैं। सही वजह है कि एक साथ ज्यादा लोगों को फाइनेंशियल इकोसिस्टम में ला सकता है।

rapid antigen test

कोरोनावायरस- जानिए रैपिड एंटीजन और RT-PCR टेस्ट में क्या है अंतर

18 July 2020

देश में कोरोना वायरस की जांच के लिए RT-PCR टेस्ट किया जा रहा था, ये सबसे विश्वसनीय माना गया है। लेकिन पिछले महीने से देश में रैपिड एंटीजन टेस्ट की शुरुआत हुई। इस टेस्ट की खासियत ये है कि इसमें कम समय लगता है और प्रक्रिया बहुत जल्दी पूरी हो जाती है। नतीजन रिपोर्ट भी जल्दी मिल जाती है। हाल ही में बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक बच्चन कोरोना वायरस (Corona Virus) से संक्रमित पाए गए हैं। दोनों का पहले रैपिड एंटीजन टेस्ट ही हुआ था, जो कि पॉजिटिव आया था।

twitter account hacked

कहीं आपका ट्विटर अकाउंट भी हैक तो नहीं हुआ, जानिए ऐसे

17 July 2020

बीते दिनों माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twitter) पर दुनिया का सबसे बड़ा साइबर अटैक हुआ और यही कारण था कि कई बड़े बिजनेसमैन और राजनेताओं के अकाउंट्स हैक हो गए थे। इन नामी हस्तियों में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा, इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स, टेस्ला के सीईओ एलन मस्क, एप्पल, उबर समेत कई बड़े नाम शामिल थे। इस घटना के बाद सोशल मीडिया (Social Media) पर अकाउंट की सुरक्षा और साइबर अटैक (Cyber Attack) को लेकर बहस छिड़ गई। ये जरूरी भी है कि हम अपने सोशल मीडिया की सुरक्षा को ध्यान में रखें। अब ये पता कैसे लगाया जाए कि आपका ट्विटर अकाउंट हैक है या नहीं और इससे कैसा बचा जा सकता है। तो यहां आपको बताने जा रह कुछ आसान से टिप्स (Tips) जिनको अपनाकर आप ये आसानी से पता कर सकते हैं और भविष्य में ऐसी घटना से बच भी सकते हैं।

भारत में लॉन्च हुई दुनिया की सबसे सस्ती कोरोना टेस्टिंग किट, जानें कीमत

15 July 2020

कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले हर दिन भारत में नया रिकॉर्ड बना रहे हैं। प्राइवेट लैब से इसकी टेस्टिंग भी काफी महंगी है, लेकिन अब भारत में दुनिया की सबसे सस्ती कोरोना टेस्टिंग किट लॉन्च कर दी गई है। इस किट को कोरोश्योर (corosure) के नाम से आईआईटी दिल्ली ने बनाया है। 

सोसाइटी से

अन्य खबरें

Corona Positve

'हमें बीमारी से लड़ना है, बीमार से नहीं'

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर