सब्सक्राइब करें

सोसाइटी

guru prasad

नौकरी छोड़कर शुरू की लहसुन की खेती आज कमा रहे हैं लाखों रुपए

28 January 2020

मध्य प्रदेश के गुरुप्रसाद ने जब सरकारी नौकरी छोड़कर खेती करना शुरू किया था तो उन्हें नहीं पता था कि ये खेती उनके लिए मुनाफे का सौदा साबित होगी। पिता के पास खेत तो थे लेकिन छिंदवाड़ा के गांव में पानी की समस्या होने के कारण खेती करना मुश्किल हो रहा था। खेती में शुरूआती समय से ही घाटा झेल रहे पिता कभी नहीं चाहते थे कि बेटा भी किसान बने वो चाहते थे कि पढ़ाई पूरी करके वो कोई नौकरी में लग जाए। गुरु प्रसाद ने एमए और डी एड में डिप्लोमा किया और एक स्कूल में बच्चों को पढ़ाने लगे, लेकिन सैलरी कम थी और परिवार में कुल सदस्य चार। सबका खर्चा निकालना नौकरी से मुश्किल हो रहा था। गुरु प्रसाद ने बताया कि एक नौकरी से पूरे घर का खर्चा चलना मुमकिन नहीं था और ये रात दिन मेरे लिए एक चिंता का विषय था। मेरे पास खेत भी थे लेकिन खेती का कोई अनुभव नहीं था। 

फल बेचकर शिक्षा की अलख जाने वाले को मिला 'पद्मश्री'

27 January 2020

दक्षिण भारत में फल बेचकर निरक्षरों को साक्षर बनाने वाले हरेकाला हजाब्बा को उनकी मेहनत का तोहफा मोदी सरकार ने दिया है। इस साल घोषित हुए पदम पुरस्कारों में कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिला के फल विक्रेता फल विक्रेता का भी नाम शामिल है। 68 वर्षीय हरेकाला हजाब्बा फल की छोटी सी दुकान चलते हैं और यहां पर होने वाली कमाई से अपने गांव में बच्चों के लिए प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल बना दिया है। यही नहीं, अब आगे उनकी योजना गांव में ही एक विश्वविद्यालय भी बनवाने की है। 

kerala mosque

केरल की इस मस्जिद ने पेश की एकता की मिसाल, मस्जिद में गूंजे मंत्रोच्चारण

20 January 2020

क्या आपने कभी मस्जिद में मंत्रों के उच्चारण होते हुए सुने हैं, यकीनन आप हैरान हो गए होंगे लेकिन ये सच है। केरल के एक मस्जिद ने सामाजिक सौहार्द की मिसाल पेश करते हुए ये कर दिखाया है। केरल के अलप्पुझा जिले के कयामकुलम की एक मस्जिद में हिंदू जोड़े ने हिंदू रीति रिवाजों के साथ शादी की। मस्जिद कमेटी को जब पता चला कि लड़की की मां के पास शादी में खर्च करने के लिए पैसे नहीं हैं तो कमेटी ने फैसला किया वो मदद के लिए आगे आएंगे। मस्जिद में ही महिला की शादी पूरे रीति रिवाज से कराई गई। परिसर के अंदर दूल्हा-दूल्हन ने सात फेरे लिए और मंत्रों के उच्चारण के साथ शादी के पवित्र बंधन में बंध गए।  

vidya devi

राजस्थान: 97 साल की दादी बनीं सरपंच, पानी-पर्यावरण के मुद्दे पर लड़ी थीं चुनाव

20 January 2020

कहते हैं कुछ चीजों के लिए कोई उम्र नहीं होती फिर वो पढ़ाई हो या किसी नए काम की शुरुआत। राजस्थान के सीकर जिले के पुरुणावास ग्राम पंचायत में 97 साल की एक महिला ने सरंपच बनकर ये बात सच साबित कर दी है। 97 साल की विद्या देवी आरती मीणा को 207 वोटों से हराकर सरपंच बनीं तो पूरे गांव में खुशी की लहर दौड़ गई। सबसे खास बात ये है कि विद्या देवी ने ये चुनाव पर्यावरण, पानी की समस्या व स्वच्छता को मुद्दा बनाकर लड़ा था। रिपोर्ट की मानें तो विद्या देवी को कुल 843 वोट मिले और उनकी प्रतिद्वंद्धी आरती मीणा को 636 वोट मिले। पंचायत में कुल 4200 वोटर्स थे, जिसमें 2856 वोटर्स ने वोट डाला था। विद्या देवी के पति भी सरपंच रह चुके हैं और इस बार 11 कैंडिडेट्स चुनाव लड़ रहे थे जिसमें विद्यादेवी को जीत मिली। विद्या देवी की पंजीकृत जन्मतिथि एक जनवरी, 1923 है।

anoop gupta

विदेश की नौकरी छोड़, गांवों की शिक्षा व्यवस्था सुधारने निकला ये शख्स

15 January 2020

विदेश में नौकरी, अच्छा पैकेज, अच्छी लाइफ स्टाइल; हम में से ज्यादातर लोगों का यही सपना होता है। लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो किसी और सपने को पूरा करने के लिए ये सब पीछे छोड़ देते हैं। लखनऊ के रहने वाले अनूप गुप्ता उन्हीं कुछ विलक्षण लोगों में शामिल हैं जिनके लिए समाज सेवा सबसे पहले है। इंजीनियरिंग करने के बाद अनूप स्विट्जरलैंड व अन्य यूरोपीय देशों में लगभग 10 वर्षों तक विभिन वरिष्ठ पदों पर काम करते रहे और उसके बाद साल 2009-2010 में अपने परिवार के साथ लखनऊ वापस लौट आए। अनूप बताते हैं, मैं भले ही वहां एक अच्छे पद पर था, अच्छी नौकरी थी लेकिन कहीं न कहीं मन था अपने देश में लौटकर, वहां कुछ करने का। मैंने जब ये फैसला लिया तो भले ही दोस्तों को मुझपर हंसी आई हो लेकिन पत्नी इस फैसले में मेरे साथ थीं। 

pune police

लड़की का नंबर मांगने वाले शख्स को पुलिस ने दिया ऐसा जवाब, हो रही तारीफ

14 January 2020

ट्विटर पर एक महिला को परेशान करने वाले शख्स को पुणे पुलिस ने ऐसा करारा जवाब दिया कि सोशल मीडिया पर ये तेजी से वायरल हो रहा है। पुलिस का ये जवाब ट्विटर पर लोगों को काफी पसंद आ रहा है। दरअसल एक महिला ने ट्विटर पर धनोरी पुलिस स्टेशन का नम्बर मांगने के लिए ट्वीट किया था जिसका रिप्लाई करते हुए पुणे पुलिस ने नम्बर दे भी दिया। इसके बाद एक ट्विटर यूजर ने उसी ट्वीट पर पुलिस से महिला का मोबाइल नंबर मांगा और इसके बाद पुलिस ने जो मजेदार जवाब दिया उसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं और रिट्वीट भी कर रहे हैं। पुलिस ने उस ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, फिलहाल सर हमें आपके नंबर में दिलचस्पी है, ये जानने के लिए महिला का नंबर लेने में आपकी क्या दिलचस्पी है। पुलिस ने कहा कि हम निजता का ख्याल रखते हैं इसलिए आप हमें सीधा मैसेज भी कर सकते हैं। 

1995 किलो खिचड़ी एक ही बर्तन में बनाकर बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

14 January 2020

देशभर में 15 जनवरी के मकर संक्रांति मनाई जाएगी। वैसे तो हर साल ये त्योहार 14 जनवरी को ही मनाया जाता है, लेकिन इस बार सूर्य मंगलवार 14 जनवरी की रात 2 बजकर 7 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश कर रहा है, इसलिए इस बार मकर संक्रांति 15 जनवरी को मनाई जाएगी। मकर सौर मंडल की बारह राशियों में से एक राशि है। इस राशि के स्वामि शनि हैं और संक्रांति का अर्थ होता है - संक्रमण यानी ग्रह का प्रवेश करना। इससे मिलकर मकर संक्रांति बनता है। 

कैसा होगा आपका वर्ष 2020 जानिये अपनी राशि के बारे में

04 January 2020

कैसा होगा आपका वर्ष 2020 ये जानने के लिए आप अपनी राशि को यहाँ पढ़ सकते है।  नए वर्ष में आपका स्वास्थ्य कैसा होगा, आपकी व्यापारिक स्थिति कैसी होगी आपको इस वर्ष नया क्या मिल सकता है ये सब जानने के लिए पढ़िए ज्योतिषाचार्य डॉ एस डी मिश्रा और ज्योतिषाचार्य आचार्य देव द्वारा बताई गई राशिफल। 

manshi

राष्ट्रीय विज्ञान प्रतियोगिता में सरकारी स्कूल की छात्रा ने जीता गोल्ड मेडल

04 January 2020

कहते हैं अगर कुछ करने की ललक हो तो आदमी क्या नहीं कर सकता है। यह साबित कर दिखाया है गुदड़ी का लाल बनी मानसी ने। जिसने अपनी प्रतिभा के आगे गरीबी को पीछे छोड़ते हुए बहुत बड़ा मुकाम हासिल किया है। संघर्षों से भरे जीवन में भी अपनी प्रतिभा को लोहा मनवाते हुए सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली मानसी ने न सिर्फ बाराबंकी का मान बढ़ाया है बल्कि उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा की एक रोल मॉडल बनी हैं। फूस के घर में रहने वाली मानसी इस समय 'गुदड़ी का लाल' बन गई हैं। 

मोदी सरकार ने गन्ना किसानों और चीनी मीलों को दिया बड़ा तोहफा

03 January 2020

मोदी सरकार ने गन्ना किसानों को सहूलियत देने के लिए अब बहुत बड़ा बयान उठाया है। अब मोदी सरकर चीनी मिल मालिकों को आसानी से लोन उपलब्ध कराएंगी। जी हां अब चीनी मिलों के मलिकों को अब शुगर डिवेलपमेंट फंड से सॉफ्ट लोन पाने के लिए मंत्रालय के चक्कर नहीं लगाने होंगे। अब उन्हें यह लोन आसानी से डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए ही मिलेगा। 

सोसाइटी से

अन्य खबरें

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सुषमा स्वराज का निधन, अचानक मृत्यु से पूरे देश में उठी शोक की लहर

टाटा ने लॉन्च की नई NEXON EV इलेक्ट्रिक कार, जानें क्या हैं खासियत

मुंबई में कश्मीरी पंडितों के लिए 'शिकारा' की विशेष स्क्रीनिंग का आयोजन

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर