सब्सक्राइब करें

सोसाइटी

mask for corona

केरल के फोटोग्राफर ने बनाया ऐसा अनोखा मास्क, अब नहीं छिपेगी पहचान

30 May 2020

कोरोना (Corona) के आते ही बाजार में दो चीजों की मांग सबसे ज्यादा बढ़ी एक मास्क (Mask) बौर दूसरा सैनिटाइजर। वैसे भी सरकार ने कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क को अनिवार्य कर दिया था। जब तक कोरोना (corona) की कोई वैक्सीन नहीं आती है तब तक सभी को अपनी सुरक्षा के लिए स्वयं ही सतर्क होना पड़ेगा। यानि वायरस से बचाव के लिए अब मास्क पहनना ही पड़ेगा। लेकिन मास्क के साथ समस्या ये है कि इससे हमारा आधा फेस छुप जाता है और सामने वाले को पहचानने में दिक्कत होती है। लेकिन अब इस समस्या का हल भी निकाल लिया गया है। कोच्चि के इटुमानूर में बिनेश जी पॉल नाम के शख्स ने ऐसा मास्क तैयार किया है जिससे लोग आपकी पहचान आसानी से कर सकते हैं।

know about hindi journalism

हिंदी पत्रकारिता दिवस: 'उदन्त मार्तण्ड' अखबार से हुई थी इस युग की शुरुआत

30 May 2020

आज 30 मई को हिंदी पत्रकारिता दिवस है, भले ही अंग्रेजी वेबसाइट, न्यूज पेपर ने हिंदी जर्नलिज्म को पीछे धकलेने की कोशिश की है लेकिन इसके बाद भी आज हिंदी चैनल, अखबार और कई सारी ऐसे डिजिटल माध्यम हैं जिन्होंने इसके अस्तित्व को बनाये रखा है। हिंदी पत्रकारिता की शुरुआत 'उदन्त मार्तण्ड' के नाम से पहला समाचार पत्र से हुई जिसे 30 मई 1826 में निकाला गया था। इस अखबार को पंडित जुगल किशोर शुक्ल ने कलकत्ता में एक साप्ताहिक समाचार पत्र के रुप में शुरू किया था। इसके साथ ही हिंदी पत्रकारिता दिवस की नींव भी पड़ी। पं जुगल किशोर शुक्ल पेशे से वकील थे और कानपुर के रहने वाले थे। लेकिन उस समय औपनिवेशिक ब्रिटिश भारत में उन्होंने कलकत्ता को अपनी कर्मस्थली बनाया। परतंत्र भारत में हिंदुस्तानियों के हक की बात करना एक बहुत बड़ी चुनौती उन्होंने कलकत्ता के बड़ा बाजार इलाके में अमर तल्ला लेन, कोलूटोला से साप्ताहिक 'उदन्त मार्तण्ड' का प्रकाशन शुरू किया। उस समय यह अखबार हर हफ्ते मंगलवार को छपता था।

indian railway in corona lockdown

एक जून से बदलने जा रहे हैं ये नियम, क्या आप पर भी होगा असर ?

29 May 2020

लॉकडाउन फेज 4, 31 मई को खत्म हो रहा है। इसके साथ ही कई सारे ऐसे बदलाव होने जा रहे हैं जो एक जून से लागू होंगे। 1 जून से लोगों को उम्मीद है कि सरकार कुद राहत देने वाली है। रेलवे, विमान सेवा, राशन कार्ड से जुड़े कई नियम बदलेंगे जिनका हमारे जीवन पर भी असर पड़ेगा इसलिए इनके बारे में जानना जरूरी है। 1 जून से आपकी दैनिक जीवन से जुड़ी भी कुछ चीजों में बदलाव होने जा रहे हैं जिसमें रेलवे भी शामिल है। अगर बात करें इंडियन रेलवे (Indian Railway) की तो 1 जून से रेलवे 200 यात्री ट्रेनों की शुरुआत करने जा रही है। इसके पीछे का मकसद अलग-अलग इलाकों में फंसे लोगों को उनकी सही जगह पर पहुंचाना है। रेलवे ने इसके लिए पहले ही टाइम टेबल निकाल दिया था। ये एक जून से लागू हो जाएगा। 

देश में 1 जुलाई से स्कूल खुलने पर कोई निर्णय नहीं, सरकार ने कहा गलत है न्यूज

27 May 2020

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से इस समय लॉकडाउन (Lockdown) चल रहा है। लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से देश की स्थिति बहुत ही खराब हो गई है। देश की लगातार खराब हो रही स्थिति को देखते हुए सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) को खोल दिया है। इस समय लॉकडाउन (Lockdown) के चल रहे चौथे चरण में शहर से लेकर गांव तक की दुकानें खुल गई है। हालांकि अभी भी ऐसे कार्यक्रमों और संस्थानों पर रोक है, जिनकी वजह से कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण फैलने का खतरा बहुत हो सकता है। इसमें देशभर के स्कूल (School) से लेकर कॉलेज (Collage), जिम, खेल मैदान तक पर भी रोक लगी हुई है। 

mp tribal family helpes needy in lockdown

कोरोना संकट में मदद के लिए आगे बढ़ रहे मध्य प्रदेश के ये आदिवासी परिवार, सीएम ने भी की तारीफ

27 May 2020

कोरोना काल (Corona) यानि संकट का समय पूरी दुनिया इस महामारी से इस समय जूझ रही है। कोरोना के बाद से पूरे देश में 25 मार्च से लॉकडाउन (lockdown) लागू है। ऐसे में कई गरीब परिवारों के रोजी-रोटी पर भी संकट आ गया है। प्रवासी मजदूरों का रोजगार छिन गया है और अब उन्हें दो जून की रोटी जुटानी मुश्किल हो रहा है। इस बुरे वक्त में कुछ हाथ मदद के लिए आगे भी आ रहे हैं इन लोगों से दूसरों को भी प्रेरणा लेनी चाहिए। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के रीवा, सतना, पन्ना और उमरिया जिले के आदिवासी (Tribal) इस संकट की घड़ी में मजबूती के साथ दूसरों की मदद के लिए आगे खड़े हैं। ये न केवल इंसानियत की मिसाल पेश कर रहे हैं बल्कि ये भी बताते हैं कि मानवता से बढ़कर कोई धर्म नहीं होता। 

up rojgar sangam loan mela

आप भी पा सकते हैं यूपी रोजगार संगम लोन, ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

27 May 2020

कोरोना संक्रमण (corona) के चलते लॉकडाउन के बाद देश के लगभग सभी कारखाने चलने बंद हो गए। ऐसे में कुछ दिनों बाद से इनमें काम करने वाले कामगार, श्रमिक (Migrant, worker, Labor) आर्थिक तंगी के चलते वापस अपने-अपने घर की तरफ निकल पड़े। बड़ी संख्‍या में लोगों के सामने रोजगार का संकट का खड़ा हो गया है। पीएम ने इन हालात को देखते हुए आम लोगों से 'आत्‍मनिर्भर' बनने का आह्वान किया है। वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) सरकार ने इस विपत्ति को एक मौके की तरह अपनाया और यूपी को रोजगार का गढ़ बनाने के लिए छोटे उद्यमियों को ऑनलाइन लोन (online loan) देने का निश्चय किया, ताकि उत्तर प्रदेश (up) में लौटे प्रवासी कामगार, श्रमिक (Migrant, worker, Labor) साथियों को रोजगार दिया जा सके।

corona positve teacher give online classes in leh

कोरोना पॉजिटिव शिक्षक ने पेश की मिसाल, ऑनलाइन दे रहे हैं बच्चों को क्लास

26 May 2020

कोरोना वायरस (CoronaVirus) में जहां एक ओर पूरी दुनिया अस्त व्यस्त हो गई है वहीं दूसरी ओर कुछ ऐसे भी हीरोज हैं जो ऐसे समय में भी धैर्य और विवेक से काम कर रहे हैं। ऐसा ही कुछ हुआ लेह लद्दाख में जहां एक कोरोना पीड़ित शिक्षक ने गजब की मिसाल पेश की है।  किफायत हुसैन कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) है और वो इस समय सबसे अलग आइसोलेशन वार्ड (Isolation ward)  में सभी से दूर अलग-थलग जिंदगी बिता रहे हैं। इस समय भले ही उनके अपनों ने उन्हें खुद से अलग कर दिया हो लेकिन एक शिक्षक खुद को छात्रों से अलग नहीं कर पा रहा है। यही कारण है वो ऑनलाइन क्लासेस के जरिए अपने छात्रों को आइसोलेशन वार्ड से पढ़ा रहे है। किफायत हुसैन नहीं चाहते हैं कि छात्रों को लॉकडाउन (lockdown) में पढ़ाई का कोई नुकसान हो। जहां एक ओर पूरी दुनिया कोरोना से परेशान है। वहीं ये टीचर छात्रों की पढ़ाई को लेकर परेशान है। किफायत हुसैन ने इसलिए ऑनलाइन क्लासेज शुरू कर दिया है।

देवास पुलिस ने दिखाया मानवीय चेहरा, बिना मां की बेटी का एसपी ने किया कन्यादान

26 May 2020

मध्य प्रदेश के देवास (Dewas) जिले में सोमवार को पुलिस (Dewas Police) ने मानवता की मिसाल पेश की। हमेशा ही आक्रामक रूप में नजर आने वाली पुलिस (Police) ने सोमवार को सामाजिक दायित्वों का निर्वाहन किया और एक ऐसी बेटी के हाथ पीले कराए, जिसकी मां नहीं थी। बिन मां के बेटी के कन्यादान की जिम्मेदारी देवास (Dewas SP) की एसपी सहित अन्य अधिकारियों ने निभाई। उन्होंने बेटी की शादी में हर तरह का सहयोग किया। देवास (Dewas) के राजीव गांधी नगर में लॉकडाउन (Lockdown) के नियमों का पालन करते हुए पुलिस ने शादी कराई। यही नहीं, यहां पर संगीत में ढोल और शहनाई नहीं बजी बल्कि यहां पर पुलिस जीप के सायरन बजे। देवास की पुलिस (Dewas Police) पाठशाला के जरिए हुई बिना मां की बेटी की शादी में पुलिस अधिकारी- कर्मचारी दुल्हन के मामा बनकर शादी (Wedding) में शामिल हुए और कन्यादान भी पुलिस (Dewas Police) अफसरों ने किया। 

ayushman bharat yojna in covid

कोरोना संकट में मददगार बनी आयुष्मान भारत योजना, जानिए इसके बारे में सबकुछ

23 May 2020

देश भर में कोरोना महामारी के संकट में गरीबों के लिए केन्द्र सरकार की कई योजनाएं संजीवनी साबित हुई हैं। इनमें से आयुष्मान भारत भी एक है। आयुष्मान भारत योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों, खासकर बीपीएल कार्डधारक को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है। इस योजना की शुरुआत 21 मार्च 2018 को केंद्र सरकार की तरफ से की गई थी। 23 सितंबर 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर में इस योजना का शुभारंभ किया था, जिसके माध्यम से 10 करोड़ से ज्यादा परिवारों के लगभग 50 करोड़ लोगों को मुफ्त इलाज की सुविधा देने की घोषणा की थी। इस योजना के तहत आने वाले पहर परिवार को पांच लाख तक का कैशरहित स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाता है, जिससे गंभीर बीमारियों का इलाज वो समय रहते करा सकें। योजना के तहत केंद्र सरकार आयुष्मान भारत योजना के सभी लाभार्थियों को मुफ्त में कोविड-19 की जांच और उपचार उपलब्ध कराने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। 

अब कोई भी एक साथ कर सकेगा दो डिग्री के कोर्स, UGC ने दी छूट

23 May 2020

एक साथ दो-दो डिग्रियों की पढ़ाई (Education) रखने की चाहत रखने वालों के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने बहुत बड़ी राहत दी है। अब एक साल में ही दो विधाओं या एक ही विधा में दो विषयों की पढ़ाई (Two Degree Courses) कर सकेंगे। जी हां, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने छात्रों की बेहतर पढ़ाई के लिए इस प्रस्ताव को मंजूरी दी है। 

सोसाइटी से

अन्य खबरें

new zealand team

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सुषमा स्वराज का निधन, अचानक मृत्यु से पूरे देश में उठी शोक की लहर

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर