सब्सक्राइब करें

मेघालय का ये गाँव है पूरे एशिया का सबसे स्वच्छ गाँव, तस्वीरों में देखिए

India Wave News

पूरे देश में स्वच्छ भारत मिशन अभियान तेजी से चल रहा है, वहीं हमारे उत्तर-पूर्व में एक ऐसा गांव है, जो अपने स्वच्छता के लिए मानचित्र पर अलग पहचान रखता है। मेघालय का गांव मावलिन्नांग, राजधानी शिलांग और भारत-बांग्लादेश बॉर्डर से 90 किलोमीटर दूर स्थित है। मावलिन्नांग को एशिया के सबसे स्वच्छ गांव का खिताब मिला हुआ है। मावलिन्नांग गांव की इसलिए साफ है क्योंकि वहां के लोग सफाई को लेकर बहुत जागरूक हैं। 

India Wave News

अपनी स्वच्छता के लिए मशहूर मावलिन्नांग को देखने के लिए हर साल पर्यटक भारी तादात में आते हैं, 'मावल्यान्नॉंग' गांव को 'भगवान का अपना बगीचा'  भी कहा जाता है। लगभग 500 लोगों की जनसंख्या वाले इस छोटे से गांव में करीब 95 खासी जनजातीय परिवार रहते हैं। 

India Wave News

मावलिन्नांग गांव मातृसत्तात्मक है, जिसके कारण यहां की औरतों को ज्यादा अधिकार प्राप्त हैं और गांव को स्वच्छ रखने में वो अपने अधिकारों का बखूबी प्रयोग करती हैं। मावलिन्नांग के लोगों को कंक्रीट के मकान की जगह बांस के बने मकान ज्यादा पसंद हैं।

India Wave News

मावलिन्नांग में पॉलीथीन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है और यहां इधर उधर थूकना मना है। गांव के रास्तों पर जगह-जगह कूड़े फेंकने के लिए बांस के कूड़ेदान लगे हुए हैं। इसके अलावा रास्ते के दोनों ओर फूल-पौधे कि क्यारियां और स्वच्छता का निर्देश देते हुए बोर्ड भी लगे हुए हैं। परिवार का हर सदस्य गांव की सफाई में रोजाना भाग लेता है और अगर कोई ग्रामीण सफाई अभियान में भाग नहीं लेता है तो उसे सजा के तौर पर घर में खाना नहीं मिलता है।

सोसाइटी से

अन्य खबरें

new zealand team

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

February 17, 2020
rahul and manmohan

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

February 17, 2020

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

November 02, 2019

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

November 22, 2019

सुषमा स्वराज का निधन, अचानक मृत्यु से पूरे देश में उठी शोक की लहर

August 07, 2019

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर