सब्सक्राइब करें

मेरी कहानी

sdm ritu rani

समाज से लड़कर इस पिता ने बिटिया को पढ़ाकर बनाया एसडीएम

03 June 2021

आमिर खान की फिल्म दंगल का एक डॉयलॉग बहुत मशहूर हुआ था ‘म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के’। यह महिलाओं को सशक्त बनाने और लैंगिक समानता में एक कदम आगे बढ़ाने की सोच को प्रोत्साहन करता है। दंगल फिल्म साल 2016 में आई थी तब देशभर में यह डॉयलॉग बहुत ही मशहूर हुआ था। इसी फिल्म जैसी कुछ कहानी आज हम आपको एक बेटी और पिता के संघर्ष की बताने जा रहे हैं। यह कहानी कुश्ती की नहीं बल्कि बेटी को पढ़ाने के लिए गांव और समाज से किए गए संघर्ष की है। जिसके पिता ने अपनी बेटी के सपनों को साकार करने के लिए न सिर्फ गांव से शहर पढ़ाई के लिए भेजा बल्कि शहर में सालों तक उसे सपनों को पूरा करने का मौका दिया। 

alka sharma

UPPSC: अलका शर्मा के सपनों को बेटी के आने के बाद मिली उड़ान

17 May 2021

हर किसी का सपना होता है कि वह उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा को पास करके प्रदेश में अधिकारी बने। अधिकारी बनने की चाहत में हर साल लाखों की संख्या में अभ्यर्थी यूपीपीएससी की तरफ से निकाली जाने वाली यूपीपीसीएस की भर्ती के लिए आवेदन करते हैं। लाखों अभ्यर्थी में से महज चंद सौ अभ्यर्थी ही प्रदेश के अलग-अलग विभागों में अधिकारी का पद पाते हैं। ये वहीं होते हैं जो लाखों अभ्यर्थियों में से कुछ अलग करते हैं, तभी ये परीक्षा पास करते हैं। इन लोगों के पास में होती है बेहतर रणनीति, सही गाइडेंस और टाइमिंग के साथ में पढ़ाई। इसी फॉर्मूले को अपनाते हुए फैजाबाद (अब अयोध्या) की अलका शर्मा ने भी यूपीपीसीएस की परीक्षा को फतेह कर ली है।

aadesh

दर्जी का बेटा बना एसडीएम, पढ़ाई के लिए मां-बाप ने की थी दिन रात मेहनत

26 April 2021

कहते हैं कि अगर चीज को पाने की ठान ली जाए, तो रास्ते में आने वाली सारी बाधाएं दूर हो जाती है। आज की मेरी कहानी में भी कुछ वैसी ही है। आज आपको एक ऐसे सफल व्यक्ति की कहानी पढ़वाने जा रहे हैं, जिनके परिवार ने कभी ऐसा सपना देखा था, जिसे पूरा करना जल्द संभव नहीं था। लेकिन बेटे ने उसे अपनी मेहनत के बदौलत साकार कर दिखाया है। बेटे की कामयाबी कुछ ऐसी है कि अब वह दूसरों के लिए प्रेरणा बने हैं। जिसके मां-बाप सिलाई करके अपने परिवार को चलाते थे, आज उनका ही बेटा एसडीएम बन गया है। यह कामयाबी परिवार के लिए यह किसी अजूबे से कम नहीं है।

shivam yadav assistant regional transport officer

UPPSC: छोटी उम्र में किया बड़ा काम, छह महीने में नायब तहसीलदार से लेकर ARTO तक लगाई छलांग

19 April 2021

कामयाबी आपकी योग्यता देखती है, उम्र नहीं है। कामयाबी आपको छोटी उम्र में भी मिल सकती है और कभी-कभी उम्र की उस सीमा पर भी जाकर मिलती है, जब आपके पास अंतिम मौका होता है। दरअसल, कामयाबी के पीछे होता है आपका समर्पण, त्याग और बेहतर गाइडेंस। अगर इन सबका अच्छा तालमेल बैठ जाए तो कम उम्र में भी बड़ी कामयाबी पाई जाती है। अगर सही समय और छोटी उम्र में ही कामयाबी मिल जाए, तो फिर अपने लक्ष्य को पाने की तरफ जोश दोगुना बढ़ता है।

uppcs 2020 result sachin verma

UPPCS 2020: शिक्षक से जेल अधीक्षक बनें सचिन, आसान नहीं रहा बचपन में सफर

17 April 2021

एक सफलता आपके पीछे के सारे संघर्ष को सामने ला देती है तो वहीं असफलता आपके सारे संघर्ष को छिपा देती है। कई बार असफलता के बाद सफलता मिलती है तो उसका मजा ही कुछ और होता है। आखिरकार हो भी क्यों न, जिसका सपना बचपन से ही देखा जाता है, जिसके पीछे सालों की कड़ी मेहनत होती है, जिसके पीछे परिवार को बड़ी आशा होती है, वह आखिरकार जब पूरा होता है, तो खुशी होती ही है।

uppsc pcs 2020 vikas kumar

UPPCS 2020: दूसरों के खेतों में काम करके बेटे को पढ़ाया, अफसर बनता नहीं देख सकें पिता

16 April 2021

उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की तरफ से पीसीएस यानी सम्मिलित राज्य प्रवर/अधीनस्थ सेवा (सामान्य चयन) परीक्षा-2020 का परिणाम घोषित कर दिया गया है। घोषित किए गए परिणाम में सरकार को सैकड़ों की संख्या में अफसर मिले हैं। ऐसे ही इस परीक्षा में एक ऐसी अभ्यर्थी का चयन हुआ, जिन्होंने मेंस परीक्षा के दौरान ही अपने पिता जी को खो दिया था। आज जब चयन हुआ तो जहां एक तरफ खुशी के आंसू थे तो दूसरी तरफ पिता जी के इस दुनिया में न रहने का गम। पिता को याद करते हुए फफक कर रो पड़े। 

uppcs result 2020

UPPCS 2020: सिपाही से डायट प्रवक्ता बनेंगे मुकेश, ऐसा रहा है संघर्ष

14 April 2021

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की तरफ से पीसीएस-2020 का परिणाम घोषित कर दिया गया है। आयोग की तरफ से घोषित किए परिणाम के बाद पूर्वांचल के कई घरों में खुशी की लहर दौड़ गई है। उनकी घर की मेधा ने अपनी प्रतिभा का लोहा जो उस परिणाम में मनवाया था। सबसे खास बात यह है कि इस बार के आए परिणाम में गोरखपुर क्षेत्र के एक सिपाही का भी चयन पीसीएस की परीक्षा में हुआ है। इसके अलावा गोरखपुर क्षेत्र से कई विद्यार्थियों ने इस परिणाम में एसडीएम का पद हासिल करके सफलता पाई है।

uppsc result 2020 shivakshi

UPPSC 2020 : लखनऊ शिवाक्षी दीक्षित बनीं सेकेंड टॉपर, जानें कैसे पाई सफलता

13 April 2021

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की तरफ से घोषित किए गए परिणाम में टॉपर जहां पंजाब की संचिता रही है, तो वहीं लखनऊ की शिवाक्षी दीक्षित ने दूसरा स्थान हासिल किया है। लखनऊ की रहने वाली शिवाक्षी ने ये मुकाम पहले ही प्रयास में हासिल किया है। इस परीक्षा में दूसरा स्थान हासिल करने वाली शिवाक्षी यूपीएससी का इंटरव्यू देने जा रही है। उनका सपना है कि यूपीएससी की परीक्षा पास करके देश की सेवा में जाएं।

rachit goyal

UPPSC: अंबाला के रचित 21 साल की उम्र में ही यूपी में बनेंगे अफसर

13 April 2021

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की तरफ से पीसीएस 2020 का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया गया है। आयोग की तरफ से घोषित किए गए परिणाम में हरियाणा के अंबाला शहर के जग्गी गार्डन निवासी 21 वर्षीय रचित गोयल ने भी सफलता अर्जित करके रिकॉर्ड बनाया है। अब वे उत्तर प्रदेश में अफसर बनेंगे। रचित की इस कामयाबी के बाद पूरे परिवार के लोग गर्व महसूस कर रहे हैं। रचित ने यह मुकाम हासिल कर अपनी माता रेखा गोयल, पिता अमर प्रकाश गोयल सहित दादा दीपचंद गोयल शहजादपुर का नाम रोशन किया। रचित गोयल ने सिटी के पीकेआर जैन स्कूल से 2016 में 12वीं की परीक्षा पास की है। इसके बाद रचित ने आगे की पढ़ाई पंजाब यूनिवर्सिटी से की। यहां से रचित ने बीएड की पढ़ाई की और इसके बाद यूपीएससी की तैयारी में जुट गए। आखिरकार अब उन्होंने वह मुकाम हासिल किया है।

sanchita

UPPCS 2020: गरीब बच्चों को निःशुल्क पढ़ाने वाली पंजाब की संचिता बनीं टॉपर

13 April 2021

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की तरफ से संयुक्त राज्य/अपर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2020 का परिणाम घोषित कर दिया गया है। पीसीएस 2020 के घोषित किए गए परिणाम में टॉपर पंजाब की संचिता बनी हैं। पंजाब की रहने वाली संचिता ने दिल्ली में आकर तैयारी की और सिविल सेवा के एग्जाम के लिए उन्होंने जामिया मिल्लिया इस्लामिया के रेजिडेंशल कोचिंग सेंटर (आरसीए) में दाखिला लिया। यही पर रहकर तैयारी करते हुए संचिता शर्मा ने यूपीपीएससी की परीक्षा में टॉप किया है। संचिता के अलावा कोचिंग सेंटर से जफर, तनवीर, अविनाश कुमार और दर्शन जैन ने भी सफलता अर्जित की हे। दर्शन जैन का चयन डिप्टी एसपी तो अन्य सभी का चयन एसडीएम के पद पर हुआ है।

सोसाइटी से

अन्य खबरें

Corona Positve

'हमें बीमारी से लड़ना है, बीमार से नहीं'

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर