सब्सक्राइब करें

लोकसभा चुनाव 2019

जनता और कार्यकर्ताओं का आभार जताने रायबरेली पहुंचीं सोनिया गांधी

12 June 2019

रायबरेली से सांसद व यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी लोकसभा चुनाव 2019 में मिली जीत के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचीं। यहां पर वह जनता और कार्यकर्ताओं का आभार जताने के लिए पहुंचीं। इस दौरान उनके साथ कांग्रे की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी मौजूद हैं। सोनिया गांधी फुरसतगंज एयरपोर्ट पर उतरने के बाद सड़क मार्ग से होते हुए सोनिया और प्रियंका भुएमऊ गेस्ट हाउस पहुंचीं। रायबरेली से लगातार पांचवीं बार सफलता मिलने के बाद सोनिया-प्रियंका ने जिले की जनता, कांग्रेस पार्टी के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं के प्रति आभार जताया। 

पीएम मोदी के साथ चाय पीने का मिल सकता है मौका, बस करना होगा ये काम

06 June 2019

अगर आप भी पीएम नरेंद्र मोदी के साथ में चाय पीना चाहते हैं, तो आपके लिए सुनहरा मौका आया है। इनकम टैक्स देने वालों को प्रोत्साहित करने के लिए मोदी सरकार नई योजना लेकर आई है। टैक्सपेयर्स को बढ़ावा देने के लिए वित्त मंत्रालय एकदम नया आइडिया लेकर आया है। सरकार की इस योजना के तहत सबसे ज्यादा टैक्स चुकाने वाले लोगों को प्रधानमंत्री या वित्त मंत्री के साथ चाय पीने का मौका मिलेगा। हालांकि सरकार टैक्सपेयर्स को बढ़ावा देने के लिए पहले से ही कई नॉन-मॉनेटरी इंसेंटिव देती रही है, लेकिन ऐसा पहली बार होने जा रहा है जब टैक्सपेयर्स को पीएम के साथ चाय पर चर्चा करने का मौका मिलेगा। इस योजना को शुरू करने के पीछे का मतलब ज्यादा से ज्यादा लोगों को टैक्स देने के लिए प्रोत्साहित करने से है। 

मोदी सरकार ने शुरू नए बजट की तैयारी, 5 जुलाई को पेश होगा बजट

04 June 2019

प्रचंड बहुमत के साथ दूसरी बार सत्ता में आई मोदी सरकार ने अपने पहले बजट की तैयारी शुरू कर दी है। सोमवार से वित्त मंत्रालय में 'क्वैरंटाइन’ लागू हो गया है जिसके तहत बजट बनाने वाले अधिकारियें और कर्मचारियों पर बाहरी लोगों से संपर्क करने पर पाबंदी लगा दी गयी है। इन अधिकारियों पर यह पाबंदी 5 जुलाई को बजट पेश होने तक लागू रहेगी। यही नहीं इस दौरान आगंतुकों और मीडियाकर्मियों को वित्त मंत्रालय में नहीं आने दिया जाएगा। आम चुनावों से पहले एक फरवरी को अंतरिम बजट पेश किया गया था। अंतरिम बजट में सरकार को सीमित अवधि के लिए खर्चों की राशि ही मंजूर की जाती है। 

निजी स्वार्थों का गठबंधन था टूटना ही था - हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव

04 June 2019

भारतीय जनता पार्टी ने आज कहा कि जातीय गठबंधन के सहारे सत्ता तक पहुंचने के लिए किए गए गठबंधन का सच प्रदेश की सम्मानित जनता के सामने उजागर हो गया है। प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने बसपा सुप्रीमो मायावती के बयान पर प्रतिक्रिया टिप्पणी करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी चुनाव के पूर्व से ही सपा-बसपा गठबंधन को जातीय गुणा-गणित द्वारा किसी तरह सत्ता तक पहुंचने के प्रयास का अर्न्तविरोधी गठबंधन बताया था। उन्होंने ये भी कहा कि भाजपा नेतृत्व ने पहले ही ये कहा था कि चुनाव के उपरान्त ही दोनों दल पुनः अलग-अलग हो जाएंगे। हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि मायावती जी के बयान से यह बात पूरी तरह प्रमाणित हो गई है कि सपा-बसपा गठबंधन किसी जन सरोकारों के लिए नहीं बल्कि जातीय राजनीतिक गठजोड़ के जरिए सत्ता तक पहुंचने की असफल गठजोड़ था जो सत्ता का सपना टूटने के साथ ही पुनः अलग-अलग रास्ते की तरफ पहुंच गया। 

मायावती ने कहा, हम यूपी में अकेले लड़ेंगे विधानसभा के उपचुनाव

04 June 2019

साथ-साथ मिलकर उत्तर प्रदेश में लोकसभा के चुनाव लड़ने वाली समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की राहें अब जुदा हो गई है। सोमवार को दिल्ली में बैठक के बाद मंगलवार को मायावती ने साफ कह दिया कि फिलहाल अभी गठबंधन पर ब्रेक लगा दिया गया है। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए एक तरफ अखिलेश और डिंपल के साथ हमेशा के लिए रिश्ते बने रहने की बात कही तो दूसरी तरफ फिलहाल चुनावी राजनीति में अकेले ही आगे बढ़ने की भी पुष्टि की। मायावती ने लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार का ठीकरा समाजवादी पार्टी पर फोड़ते हुए कहा कि उन्हें यादव वोट ही नहीं मिले।

सपा-बसपा का टूटेगा गठबंधन, बसपा अकेले लड़ेगी उपचुनाव

03 June 2019

लोकसभा सीटों में शून्य से 10 पर पहुंचने वाली बसपा अब सपा से अलग होती नजर अ रही है। गठबंधन को यूपी में मिली हार के बाद अब बसपा और सपा के रिश्तों में खटास सामने आ गई है। दिल्ली में सोमवार को नेताओं के साथ हार की समीक्षा करते हुए मायावती ने साफ इशारा कर दिया है कि अब यूपी में गठबंधन साथ नहीं रहेग। सूत्रों के अनुसार बैठक में मायावती ने कहा कि सपा के साथ हुए गठबंधन से यूपी में कोई फायदा नहीं हुआ और यादवों का वोट बीएसपी को ट्रांसफर नहीं हुआ है। मायावती ने कहा कि अजित सिंह जाटों के वोट भी ट्रांसफर नहीं करा सकें। 

कांग्रेस संसदीय दल की नेता बनी रहेंगी यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी

01 June 2019

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी को कांग्रेस के नवनिर्वाचित लोकसभा सांसदों ने एक बार फिर से संसदीय दल का नेता चुन लिया गया है। पूरे देश से चुनकर आए कांग्रेस के 52 सांसदों ने अपनी पहली बैठक में उन्हें चुन लिया है। सोनिया गांधी को संसदीय दल का नेता एक बार फिर बनाए जाने का प्रस्ताव पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने रखा। संसदीय दल की बैठक में कांग्रेस के राज्यसभा सदस्यों ने भी भाग लिया। 

जानें, आखिर क्यों मोदी 2.0 में नहीं मिल पाई इन मंत्रियों को जगह

31 May 2019

पीएम नरेंद्र मोदी ने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत कर दी है, 57 मंत्रियों के साथ शपथ लेकर मोदी सरकार ने काम शुरू कर दिया है। मोदी कैबिनेट में इस बार कुछ अहम चेहरों को जगह नहीं मिल पाई है, जो कि पिछली बार मोदी कैबिनेट में शामिल थे। पिछले कार्यकाल में 26 मई 2014 को 45 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई थी। कुछ समय बाद मंत्रीमंडल का विस्तार किया गया था और मंत्रियों की संख्या 76 हो गई थी।

मोदी सरकार 2.0 कैबिनेट: इस बार यूपी से बने सबसे ज्यादा मंत्री

31 May 2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को दूसरी बार देश के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली। मोदी सरकार 2.0 में इस बार कई नए चेहरों को भी जगह मिली है, तो वहीं पुराने चेहरों को इस बार मंत्री नहीं बनाया गया है। पीएम के साथ शपथ लेने वालों में सबसे अहम चेहरों में अमित शाह और प्रदीप चंद्र सारंगी रहे हैं। इसके अलावा कई और नए चेहरों को पीएम मोदी ने अपनी टीम में शामिल किया गया है। सबसे खास बात यह है कि इस बार मंत्रिमंडल में उत्तर प्रदेश से 10 सांसदों को शामिल किया गया है। 

जानें आखिर क्यों इन नए चेहरों को दी गई पीएम मोदी की कैबिनेट में जगह

30 May 2019

प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में दोबारा आ रही एनडीए की दोबारा सरकार में कई नए चेहरे शामिल होने जा रहे हैं। पीएम मोदी के साथ नए चेहरों में ऐसे नेता शामिल है, जो कि दिग्गजों को हराकर आए हैं। कई ऐसे भी नेता शामिल है जो कि कई वर्षों से बीजेपी में रहे हैं, लेकिन अभी तक उन्हें महत्वपूर्ण पद नहीं मिला है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी ने लगभग नामों को फाइनल कर दिया है। आइए जानते हैं किन-किन नेताओं को पहली बार मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। 

सोसाइटी से

अन्य खबरें

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सुषमा स्वराज का निधन, अचानक मृत्यु से पूरे देश में उठी शोक की लहर

राहुल गांधी बोले, न खातों में आए 15 लाख, न मिले 6 हजार, बस झूठ बोल रहे हैं मोदी जी

हरियाणा: हवा का रुख साफ है, हरियाणा में बनने वाला है नया इतिहास : मोदी

डॉ एपीजी अब्दुल कलाम: बचपन में अखबार बेचने से लेकर राष्ट्रपति बनने तक का सफर

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर