सब्सक्राइब करें

लाइफस्टाइल

Water Health Benefits

नहीं पी पाते हैं दिन में 8 गिलास पानी, अपनाएं ये आसान तरीके

23 July 2020

आपने कई जगह पढ़ा होगा कि एक दिन में कम से कम 8 गिलास पानी पीना चाहिए। कई बार जब हम कम पानी पीते हैं तो हमारे घरवाले या साथ के लोग ही हमें टोक देते हैं। कुछ लोग तो डॉक्टर्स की बात मानकर ज्यादा पानी पीना शुरू कर देते हैं लेकिन ज्यादातर लोग आमतौर पर पानी तभी पीते हैं जब उन्हें प्यास लगी हो। जिन्हें प्यास कम लगती है उनके लिए तो और समस्या वाली बात है। हर वक्त इस बात को याद रखना भी मुश्किल हो जाता है, तो हम यहां आपको कुछ तरीके बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप अपनी इस आदत को सुधार सकते हैं और ज्यादा पानी पी सकते हैं। 

know how to check  sanitizer-is-original-or-fake

घर पर इन आसान टिप्स से पहचानें आपका सैनिटाइजर असली है या नकली

22 July 2020

कोरोना के बाद सैनिटाइजर (sanitizer) और मास्क (Mask) की मांग तेजी से बढ़ी है और यही कारण है कि इनकी कालाबाजारी (Black market) और नकली होने की संभावनाएं भी बढ़ गई। अब हम तो वायरस से बचने के लिए असली सैनिटाइजर समझकर दुकान से इसे खरीदते हैं। लेकिन ये कई बार नकली होते हैं और हमें पता भी नहीं चल पाता। नकली सैनिटाइजर सेहत के लिए भी नुकसानदायक होते हैं। लगातार हर राज्य और जिलों से नकली सैनिटाइजर (sanitizer) बेचने और छापामारी की खबरें भी सामने आती हैं इसलिए सैनिटाइजर खरीदते समय आपको बहुत सावधान रहने की जरूरत है। स्वास्थ्य विभाग ने असरदार सैनिटाइजर की पहचान भी बताई थी कि इस वायरस में वही हैंडसैनिटाइजर प्रभावी है, जिसमें 70 से 80 प्रतिशत एल्कोहल का इस्तेमाल हुआ हो। एक अनुमान के मुताबिक कोरोना वायरस (coronaVirus) के बाद दुनिया भर में 2019 में जिस सैनिटाइजर की कुल मार्केट वैल्यू एक अरब डॉलर थी जो 2020 में बढ़कर छह अरब डॉलर तक पहुंच गई है। लिहाजा लोग नकली सैनिटाइजर भी बेच रहे हैं।  यहां आपको कुछ आसान से टिप्स बताने जा रहे हैं जिनके इस्तेमाल से आपको ये पता चल जाएगा कि जो सैनिटाइजर (sanitizer) आप इस्तेमाल कर रहे हैं वो असली है नकली। 

CorornaVirusVaccine

ये भारतीय कंपनियां बना रही हैं कोरोना की वैक्सीन, जल्द मिल सकती है सफलता

20 July 2020

कोरोना वायरस से फैली महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। इसे रोकने के लिए कई देशों के वैज्ञानिक अपने-अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं। भारत में फिलहाल सात दवा कंपनियां ऐसी हैं जो कोरोना वायरस को रोकने के लिए वैक्सीन बनाने में लगी हैं।

मानसून में झड़ रहे हैं बाल? बहुत काम आएंगे ये टिप्स

17 July 2020

बरसात के मौसम में बाल झड़ने की समस्या बहुत आम होती है। कभी-कभी तो ऐसा लगने लगता है कि शायद ये मौसम जाते-जाते हेयर ट्रांसप्लांट कराने की नौबत आ जाएगी। बालों में चिपचिपाहट, डैंड्रफ और लगातार हो रही खुजली वाकई आपके बालों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा हो रहा है तो ये टिप्स आपके बहुत काम आएंगे। 

खराब फेफड़ों को दोबारा किया जिंदा, वैज्ञानिकों को मिली बड़ी कामयाबी

16 July 2020

कोरोना वायरस से ज्यादातर मौतें फेफड़ों के खराब होने से हो रही हैं। इस बीच वैज्ञानिकों को फेफड़ों से जुड़ी बड़ी कामयाबी हासिल हुई हैं। कुछ वैज्ञानिकों ने लंग्स के खराब हो जाने के बाद भी उन्हें दोबारा ठीक करने का तरीका खोज निकाला है। शोधकर्ताओं ने यह तकनीक ब्रेन-डेड (मस्तिष्क मृत) मरीजों से मिले छह खराब फेफड़ों पर आजमाई थी। फेफड़ों को रेस्पिरेटर यंत्र से जोड़कर इनमें सूअर का रक्त प्रवाहित किया, जिससे ये 24 घंटों में ही जिंदा हो उठे। 

covid 19

कोरोना : 40 दिन में 10 लाख नए केस होंगे भारत में!

11 July 2020

अनलॉक (unlock) के बाद कोरोना (corona) संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ी है। पहले जहां कोरोना (corona) के प्रतिदिन 10 हजार नए मामले आ रहे थे, वहीं अब प्रतिदिन 25,000 से केस आ रहे हैं। अगर इसी रफ्तार से मामले बढ़ते रहे तो अगले 40 दिन में देश में कोरोना (corona) के 10 लाख नए केस होंगे। यही वजह है कि उत्तर प्रदेश (up) समेत कई राज्यों ने सख्ती के साथ लॉकडाउन (lockdown) को लगा दिया है। अगर हालात नहीं सुधरे रहे तो लॉकडाउन (lockdown) को और आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

वैज्ञानिकों का दावा: कोविड मरीजों के साथ रहने वाले लोग इस महामारी से बच सकते हैं

10 July 2020

फ्रांस के वैज्ञानिकों ने लंबे समय तक एक अध्ययन करने के बाद यह दावा किया है कि कोरोना मरीजों के साथ रहने वाले लोग इस महामारी से बच सकते हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि जिस घर में कोई कोरोना पॉजिटिव मरीजों के साथ एक ही घर में रहने वाले तीन चौथाई लोगों के शरीर में इस बीमारी से बचने का रक्षा कवच बन जाता है यानी साइलेंट इम्यूनिटी विकसित हो जाती है। ऐसा होने से अगर वे कहीं से संक्रमण की चपेट में आते हैं तो भी खुद ही ठीक हो जाते हैं। 

Happy Birthday Dhoni : 39 की उम्र में कैसे इतना फिट हैं धोनी, जानिए उनका डायट चार्ट

07 July 2020

आज महेंद्र सिंह धोनी का जन्मदिन है। वह 39 साल के हो गए हैं लेकिन फिटनेस के मामले में उनका कोई सानी नहीं है। आज भी जब वह पिच पर रन लेने के लिए दौड़ते हैं तो उनकी रफ्तार किसी चीते की तरह लगती है। इस उम्र में इतना फिट रहने का कुछ श्रेय उनकी मेहनत और एक्सरसाइज को जाता है तो कुछ श्रेय उनकी डायट को भी जाता है। आज हम उनके जन्मदिन पर आपको बता रहे हैं कि आखिर महेंद्र सिंह धोनी फिट रहने के लिए क्या डायट लेते हैं। प्रोटीन ड्रिंक्सधोनी अपने वर्कआउट और प्रैक्टिस सेशन के दौरान प्रोटीन ड्रिंक्स लेते हैं। प्रोटीन ड्रिंक्स को एनर्जी का बहुत अच्छा सोर्स माना जाता है। ताजा जूसधोनी सोडा और सॉफ्ट ड्रिंक्स बिल्कुल नहीं लेते। इनकी जगह वह ताजा जूस पीना पसंद करते हैं। एक्सपर्ट्स कहते हैं कि किसी भी सब्जी या फल के सारे न्यूट्रीएंट्स का सबसे अच्छा तरीका उनका जूस निकालकर पीना है और धोनी इसे पूरी तरह फॉलो करते हैं।घर का खानाधोनी को घर का बना खाना बहुत पसंद है। उनका सबसे पसंदीदा खाना है दाल-चावल। वह चिकन को भी अपनी डाइट में शामिल करते हैं।दूध और इसके उत्पादधोनी को बचपन से ही दूध बहुत पसंद है। जब उन्होंने अपना अंतर्राष्ट्रीय करियर शुरू कर किया था उस वक्त एक बात काफी सुनी गई थी कि धोनी एक दिन में 4 लीटर दूध पीते हैं। हालांकि, उन्होंने इस बात पर सफाई देते हुए कहा था कि वह एक दिन में सिर्फ एक लीटर दूध ही पीते हैं। दूध और दूध से उत्पाद विटामिन डी का भी अच्छा स्रोत होते हैं और इनमें बाकी कई न्यूट्रीएंट्स भी होते हैं तो इन्हें अपनी डायट में जरूर शामिल करना चाहिए।ब्रेकफास्टधोनी सुबह के नाश्ते में फल, मेवे, एक गिलास दूध, होल व्हीट ब्रेड या पराठा और कॉर्नफ्लेक्स लेते हैं।लंचलंच में वह दाल या चिकन के साथ चपाती लेते हैं। इसके साथ एक कटोरी मिक्स वेजिटेबल सैलेड भी वह जरूर लेते हैं। कभी-कभी वह चपाती छोड़कर चावल, सब्जी और एक कटोरी दही खाते हैं।डिनरउनका डिनर भी लंच की तरह ही होता है चपाती, सब्जियां और एक कटोरी फल।स्नैक्स वर्कआउट से पहले और बाद में वह एक बड़ा ग्लास ताजे फलों का जूस पीते हैं या प्रोटीन शेक लेते हैं। सुबह या शाम के बीच के नाश्ते में वह चीज और फलों के बिना सिम्पल सैंडविच खाते हैं। 

gold man

सोने का मास्क पहनता है ये व्यक्ति, कीमत लाखों में

04 July 2020

विश्व भर में कोरोना (corona) से हर तरफ त्राहि त्राहि मची हुयी है जिस कारण लोग अब बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग (social distancing) और मास्क पहनने पर ज्यादा ज़ोर दे रहें हैं। कोरोना (corona) से बचाव के लिए लोग मास्क के साथ गमछा, रुमाल आदि तमाम कपड़े की चीजों का स्तेमाल कर रहें हैं। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी है जो सोने के बने मास्क को भी पहन कर कोरोना से बचने का दावा कर रहे हैं। 

immunity increaser food in corona

कोरोना काल में कैसे करें अपनी इम्यूनिटी को मजबूत

22 June 2020

कोराना वायरस (Coronavirus) ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। भारत में भी तेजी से बढ़ रहे मरीजों को देखते हुए सरकार ने भी लोगों को अब खुद की सुरक्षा करने के लिए कहा है। सरकार ने ये भी कहा है कि अब कोरोना के साथ जीने की आदत डाल लेनी चाहिए। जब तक कोई वैक्सीन नहीं आती है तब तक स्वयं की जागरूकता और सावधानी ही इस बीमारी से हमें बचा सकती है। जरूरी है कि संक्रमण से बचने के लिए अपनी इम्यूनिटी (Immunity) को बढ़ाया जाए। जिन लोगों की इम्यूनिटी अच्छी होगी उनपर संक्रमण का असर कम होगा। इसके लिए हमें अपनी दैनिक दिनचर्या में योग और ऐसे खाद्य पदार्थ शामिल करने चाहिए जिससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ सके। हालांकि इस बीमारी को हराने के लिए दुनियाभर में युद्ध स्तर पर प्रयास जारी हैं। वर्तमान में कोरोना वायरस के लक्षण (Coronavirus Symptoms) के हिसाब से ही मरीजों दवा देकर ठीक किया भी जा रहा है। लेकिन कोरोना वायरस उन लोगों को ज्यादा प्रभावित करता है जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली (Weak immune system) कमजोर है। यानि बुजुर्गों और बच्चों में इसका खतरा ज्यादा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कहा है कि व्यक्ति को विटामिन्स का सेवन करना महत्वपूर्ण है ताकि वह अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सके और हर बीमारी से जंग जीत सकें।

सोसाइटी से

अन्य खबरें

Corona Positve

'हमें बीमारी से लड़ना है, बीमार से नहीं'

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर