सब्सक्राइब करें

लाइफस्टाइल

भयावह: देश में अगस्त तक इतने लाख होंगे कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज, पढ़ें रिपोर्ट

01 June 2020

केंद्र सरकार (Central Government) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) को रोकने के लिए लगी सभी पाबंदियों को हटा दिया है। सरकार (Central Government) की तरफ से पाबंदियों को भले ही हटा दिया गया है, लेकिन देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलो में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। चौथे लॉकडाउन (Lockdown 4.0) के बाद देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले सरकार (Central Government) की तरफ से कराए गए आकलन से कहीं ज्यादा अधिक है। कैबिनेट सचिव (Cabinet Secretary) की तरफ से तैयार की गई रिपोर्ट से कहीं अधिक मामले होने की वजह से अब सबको चिंता सताने लगी है।

जानें कितना होता है टिड्डियों का जीवन चक्र, क्या हैं भगाने के उपाय

29 May 2020

कोरोना महामारी (Coronavirus) में किसानों के लिए आफत बनकर टिड्डी दल (Locust Crisis) आए हैं। देश में फसलों के लिए आतंक बने टिड्डी (Locust) दलों का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है। राजस्थान से बढ़कर यह अब अन्य राज्यों में भी पहुंच गए हैं। टिड्डी दलों (Locust Crisis) पर काबू पाने के लिए केंद्र से लेकर राज्य सरकारों ने मिलकर ताकत झोंकी है, लेकिन इसके बाद भी स्थिति काबू में नहीं दिख रही है। फूड एंड एग्रीकल्चर आर्गनाइजेशन (एफएओ) ने टिड्डी दलों (Locust) के बिहार (Bihar), झारखंड (Jharkhand) और ओडिशा (Odisha) तक पहुंच जाने की आशंका जताई है। टिड्डियों (Locust Attack) का दल इस समय पंजाब (Punjab) , राजस्थान (Rajasthan), मध्य प्रदेश  (Madhya Pradesh), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और हरियाणा (Haryana)  में सक्रिय है।

t-cell

बड़ी खबर : तो क्या 'टी-सेल' ही करेगा कोरोना का खात्मा

28 May 2020

कोरोना (corona) से लड़ाई जारी है इसी बीच एक और अच्छी खबर अब सामने आ रही है जिसमें ये बताया जा रहा है कि कोरोना (covid19) को रोकने में टी-सेल (T cell) एक बड़ा हथियार साबित हो सकता है। कोरोना (corona virus) की रोकथाम में लगे वैज्ञानिकों को एक उम्मीद की किरण नजर आई है। कोरोना (corona) के कारण गंभीर रूप से बीमार हो रहे लोगों में रोग प्रतिरोधक कोशिकाओं जिसमें इम्यून सेल (immune-cell) या टी-सेल (t-cell) की संख्या काफी कम हो जाती है। लेकिन अब ब्रिटेन के वैज्ञानिक इसका परीक्षण कर रहे हैं कि अगर टी-सेल (t-cell) की संख्या बढ़ा दी जाए तो क्या लोगों की जान बच सकती है।

males fingers

हाथों की उंगलियों से जानें कोरोना के खिलाफ कितना मजबूत है आपका शरीर

27 May 2020

कोरोना वायरस (Corona Virus) की महामारी ने पूरी दुनिया को इस समय लाचार बना दिया है। इसकी वजह से लगे लॉकडाउन के कारण मानवीय गतिविधियां लगभग ठप्प हो चुकी हैं। इसको लेकर रोजाना नए-नए शोध भी सामने आते रहते हैं। अभी हाल ही में कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण से जुड़ा एक रोचक शोध दुनिया के सामने आया है। इसके अनुसार जिन पुरुषों के हाथों में अनामिका उंगली (Ring finger) ज्यादा लंबी होती है, उनके इस बीमारी से मरने के चांस सबसे कम हैं।

social distancing

सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सामने आई बड़ी रिसर्च, दो मीटर की दूरी नहीं है काफी

22 May 2020

कोरोना वायरस (Corona virus) का खौफ पूरी दुनिया पर छाया हुआ है। रोजाना हजारों की संख्या में लोग इस महामारी के चलते संक्रमित हो रहे हैं। अभी तक विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और विभिन्न देशों की सरकारों की ओर से इसके बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करने की अपील की गई है। लेकिन कोविड 19 (Covid 19) वायरस को लेकर हुई एक रिसर्च में ये बात सामने आई है कि इस वायरस से बचाव के लिए केवल 2 मीटर की दूरी काफी नहीं है।

homeopathy medicine

Corona Virus: कारगर साबित हो रहीं होम्योपैथिक की ये तीन दवाएं

19 May 2020

कोरोना वायरस की महामारी पूरी दुनिया में तेजी से फैल रही है। इसकी वैक्सीन (Vaccine) बनाने को लेकर दुनियाभर के वैज्ञानिक और शोधकर्ता जुटे हुए हैं। इन सबके बीच कुछ ऐसी भी होम्योपैथिक दवाएं हैं जो इस वायरस से बचाव में काफी उपयोगी साबित हो रही हैं। यह दवाएं बचाव के साथ ही उपचार में भी कारगर हैं। इन दवाओं का नाम आर्सेनिक एल्बम 30 (Arsenic Album 30), केम्फोर 1 एम (Camphor 1M) व इनफ्लुएंजियम (Influenzinum) हैं। देश विदेश के साथ ही महाराष्ट्र में भी इसे हजारों लोगों पर टेस्ट किया गया, जिसमें ये काफी असरदार रही हैं। इन होम्योपैथिक दवाओं के बारे में इंडियावेव से होम्योपैथी के जाने-माने चिकित्सक से भी बात की हैं।

toung corona virus

लंदन के शोधकर्ताओं ने ढूंढा कोरोना वायरस का नया लक्षण

19 May 2020

कोरोना वायरस (Corona virus) की महामारी (Pandemic) कितनी खतरनाक है, इसका अंदाजा पूरी दुनिया में इससे संक्रमित लोगों की संख्या देखकर लगाया जा सकता है। कोविड-19 (COVID-19) वायरस से होने वाली इस बीमारी के लक्षणों के बारे में सभी जानते हैं। लेकिन इस वायरस के लक्षण समय-समय पर बदलते भी जा रहे हैं। लगातार वैज्ञानिकों को इस महामारी (Pandemic) के नए लक्षण दिखाई दे रहे हैं। अब लंदन के किंग्स कॉलेज (Kings Collage) की टीम ने अपनी रिसर्च में कुछ नए लक्षणों के बारे में जानकारी साझा की है। 

cloth cleaning in corona

कोरोना : घर पर कपड़ों को धुलने में ध्यान दें, कहीं आप कोई गलती तो नहीं कर रहे

09 May 2020

वैसे तो अब आप सभी लोग जानते हैं कि कोरोना (corona) से बचने के लिए हमें क्या क्या सावधानियाँ बरतनी चाहिए। लेकिन कुछ उपाय और भी बताए जा रहे हैं ताकि आप घरों मे रहकर कैसे घर का काम करें ये भी आप जान लीजिये। इन्हीं में से एक काम है कपड़े की धुलाई (fabric) करना। आप कपड़े की धुलाई में भी कई बातों को ध्यान में रखकर कोरोना वायरस (covid19) को फैलने से रोक सकते हैं।अब यहाँ पर एक सवाल ये भी है कि कपड़े के जरिये संक्रमण का कितना डर है। कपड़ो पर कोरोना के बायरस का कितने समय तक असर रहता है, इस बारे में अभी अधिक जानकारी उपलब्ध तो नहीं है। लेकिन जो कपड़े आप पहनते हैं उसमें प्लास्टिक या स्टील की कई चीजें लगी हुई होती हैं।

corona medicine

खुशखबरी : कोरोना की दवा बनाने में भारत को बड़ी सफलता, अमेरिका ने दी मंजूरी

05 May 2020

कोरोना (corona virus) ने पूरी दुनिया को उस मुहाने पर लाकर खड़ा कर दिया है जहां पर इंसानों को ज़िंदगी की असली कीमत का अंदाजा अब समझ आया है। अपनों को खोने के बाद लोग अब निराश है लेकिन इस बीच एक अच्छी खबर भी सामने आई है।  भारत अब कोरोना (covid-19) की दवा बनाने के करीब पहुंच चुका है। हैदराबाद के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी (IICT ) ने रेमेडिसविर (Remdesivir) के लिए स्टार्टिंग मैटेरियल को सिन्थेसाइज्ड (मिलाकर बनाना) किया है, जो कि काम करने वाली दवा को विकसित करने की दिशा में पहला कदम है। आईआईसीटी (IICT) ने सिप्ला जैसी दवा निर्माताओं के लिए प्रौद्योगिकी प्रदर्शन भी शुरू किया है मतलब जरूरत पड़ने पर भारत में इसका निर्माण भी शुरू किया जा सके।

lockdown over

Corona : Lockdown खत्म होने के बाद भी इन बातों का ध्यान जरूर रखें

04 May 2020

कोरोना (covid19) के कारण भारत की अन्य देशों की अपेक्षा लॉकडाउन (lockdown) के सही समय पर निर्णय लेने से आज स्थितियाँ बहुत अच्छी हैं। जिन देशों ने लॉकडाउन (lockdown) का सही समय पर पालन नहीं किया था वो आज बहुत मुश्किल में हैं। और अब भारत ने लॉकडाउन में कुछ छूट भी दी हैं।  छूट के साथ ही भारत को तीन रंगों में बाँट दिया गया है, और अब ये तीन रंग ही हमारी सुरक्षा कर रहे हैं। ये रंग हैं रेड (red zone), ग्रीन (green zone) और ऑरेंज (orange zone)। जल्दी ही भारत लॉकडाउन (lockdown) में कुछ और भी छूट दे सकता है। लेकिन अब आपको एक जिम्मेदार नागरिक की तरह कुछ सावधानियाँ भी बरतनी होंगी। लॉकडाउन (lockdown) खतम होने के बाद आपको इन बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी हो गया है।

सोसाइटी से

अन्य खबरें

new zealand team

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सुषमा स्वराज का निधन, अचानक मृत्यु से पूरे देश में उठी शोक की लहर

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर