उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग (Basic Education Department) में हजारों शिक्षकों की नौकरी एक ही झटके में चली गई है। राज्य परियोजना निदेशक की तरफ से एक ही झटके में नौकरी से संविदा समाप्त किए जाने की वजह से पिछले कई साल से कस्तूरबा विद्यालयों (KGBV) में पढ़ा रहे अंशकालिक शिक्षक (Part Time Teachers) पूरी तरह से बेरोजगार हो गए हैं। राज्य परियोजना निदेशक के एक तुगलकी फरमान से बेरोजगार हुए शिक्षक अब बहुत ही परेशान है। मंगलवार को स्कूल से बर्खास्त किए जाने की वजह से सीतापुर जिले में एक शिक्षक ने आत्मदाह करने की कोशिश की। इससे पहले इस शिक्षक दिवस पर कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (KGBV) में शिक्षकों ने काली पट्टी बांधकर और थाली बजाकर सरकार के इस नीति का विरोध भी जताया है।

बता दें, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय  में वर्षों से पढ़ा रहे अंशकालिक शिक्षकों को राज्य परियोजना निदेशक विजय आनंद ने इसी साल 14 जुलाई को संविदा समाप्त करने का आदेश दे दिया है। राज्य परियोजना निदेशक (SPD) के इसकी वजह से कस्तूरबा विद्यालय (KGBV) में कार्यरत हजारों शिक्षकों पूरी तरह से बेरोजगार हो गए हैं। उम्र के इस पड़ाव विभाग की तरफ से शिक्षकों को झटका दिए जाने की वजह से वह बहुत ही परेशान है।  कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय शिक्षक शिकक्षद्देत्तर संघर्ष मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष देशदीपक दुबे ने बताया कि हम लोगों ने अपनी जिंदगी के करीब 15 साल कस्तूरबा गांधी विद्यालय (KGBV) में बीता दिए है। अब बुढ़ापे में विभाग (Basic Education Department) की तरफ से हटाकर सिर्फ अन्याय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में विभाग  के अधिकारियों से लेकर राष्ट्रपति, प्रदेश के मुखिया और केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय को भी अवगत कराया गया है, लेकिन अभी तक हम लोगों की कहीं पर कोई सुध नहीं ली गई है।

राज्य परियोजना निदेशक (The Director-General of the Basic Education Department) की तरफ से इस तरह के कदम उठाए जाने पर उन्होंने जेंडर तक बदलवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि हम सरकार से मांग करते हैं कि आप हमारा जेंडर ही बदलावा दीजिए, लेकिन हम लोगों को नौकरी से मत निकालिए। उन्होंने कहा कि बेसिक शिक्षा के महानिदेशक  और राज्य परियोजना अधिकारी हम लोगों से संवैधानिक हक भी छिन रहे हैं जबकि हम लोगों की नियुक्ति संवैधानिक तरीके से सही है। उन्होंने सीधे-सीधे लिंग भेद का आरोप लगाते हुए निकालने की बात कहीं।

राज्य परियोजना निदेशक की तरफ से ही विद्यालय (KGBV) में पूर्णकालिक शिक्षक के तौर पर पढ़ाने वाली शिक्षिकाओं को अब अंशकालिक (Part Time Teachers) करने का आदेश जारी किया है। अभी तक पूर्णकालिक शिक्षक (Teachers) रूप में 22 हजार रुपये वेतन पा रही शिक्षिकाओं की संविदा अंशकालिक (Part Time Teachers) कर दिया गया है। अब उन्हें हर महीने महज 9800 रुपये दिए जाएंगे। इस तरह से यहां पर शिक्षिकाओं की नियुक्ति या संविदा अंशकालिक शिक्षिका (Part Time Teachers) के तौर पर की जा रही है। सरकारी आदेश के अनुसार स्कूलों में वर्षों से पूर्णकालिक के रूप में कार्यरत खेल व शारीरिक शिक्षा, गृहशिल्प, कम्प्यूटर व संगीत, कला/क्राफ्ट पढ़ाने वाले शिक्षिकाओं का अब अंशकालिक (Part Time Teachers) के रूप में संविदा की जाएगी। अब इने भी महज 9800 रुपये मासिक ही मिलेंगे।

सीतापुर में आत्मदाह करने की कोशिश

सीतापुर जिले के पहला के बिलौली बाजार स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (KGBV) में एक शिक्षक ने आत्मदाह करने की कोशिश की। कस्तूरबा विद्यालय (KGBV) पहुंचे हिंदी शिक्षक (Part Time Teachers) कुलदीप कुमार ने आत्मदाह करने की नियत से अपने ऊपर डीजल उड़ेल लिया। यह दृश्य देखते ही विद्यालय परिसर में हंडकम्प मच गया और वहां पर मौजूद शिक्षक साथियों ने उन्हें पकड़ लिया। विद्यालय में इस तरह के हादसे की सूचना पर खंड शिक्षा अधिकारी (BEO) श्रीकृष्ण प्रेमी व जिला समन्वयक बालिका शिक्षा शैलेश गुप्ता भी मौके पर पहुंचें। उन्होंने शिक्षक को समझाया। 

जिला समन्वयक शैलेश गुप्ता ने बताया कि यहां प्रति वर्ष संविदा पर शिक्षकों की नियुक्ति होती है। इस बार मुख्य विषय हिदी, गणित, विज्ञान व सामाजिक विज्ञान के शिक्षकों (Part Time Teachers) का नवीनीकरण नहीं हो रहा है। इस संबंध में कुलदीप व उनके सहयोगियों (Part Time Teachers) ने बताया कि हर वर्ष संविदा का नवीनीकरण होता रहा है। इस बार महानिदेशक (The Director-General of the Basic Education Department) की तरफ से आदेश आने की वजह से अभी तक नवीनीकरण नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि नवीनीकरण न होने से अब हम लोगों की नौकरी भी जाने का खतरा है। उन्होंने बताया कि 10 वर्ष से अधिक समय से शिक्षण कार्य करने के बाद अब नौकरी जाने के भय से मुझ जैसे सैकड़ों शिक्षक परेशान हैं।

Zeen is a next generation WordPress theme. It’s powerful, beautifully designed and comes with everything you need to engage your visitors and increase conversions.