सब्सक्राइब करें

पॉलिटिक्स

कोरोना काल में विपक्ष की 11 सूत्रीय मांगों के ये हैं मायने

23 May 2020

कोरोनाकाल (Coronavirus) की वजह से इस समय पूरा देश आर्थिक संकट से गुजर रहा है। लॉकडाउन (Lockdown) में रियासत देते हुए सरकार (Government) ने कोरोनाकाल (Coronavirus) में भी दुकानों को खोलने के आदेश दे दिए हैं। फैक्ट्रियों (Factory) को चलाने की अनुमति दे दी गई हैं। सभी प्राइवेट ऑफिसों को 33 फीसदी स्टाफ के साथ में चलाने की अनुमति दे दी गई हैं। इसके बाद भी देश की सेहत नहीं सुधर रही है। देश में लगातार इस तरह उत्पन्न हो रही समस्या को देखते हुए सरकार कांग्रेस ने शुक्रवार को 22 विपक्षी दलों (22 Opposition Parties) के साथ में विस्तृत चर्चा की। 

aditi singh congress leader

अगर मैं पार्टी विरोधी हूं तो सोनिया गांधी कैसे जीत गईं : अदिति सिंह

21 May 2020

कोरोना (corona) काल के दौरान उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) में प्रवासी मजदूरों की बस सियासत ने अब नया रूख अख़्तियार कर लिया है। बसों की लिस्‍ट को लेकर कांग्रेस पार्टी (congress party) की आलोचना करने वाली रायबरेली (Raebareli) सदर विधायक अदिति सिंह (aditi singh) को पार्टी ने विरोधी गतिविधियों के चलते निलंबित कर दिया है।  रायबरेली (Raebareli) सदर विधायक अदिति सिंह (aditi singh) ने इंडिया वेव (india wave) से ख़ास बातचीत में बताया कि मुझे भी मीडिया से ही पता चला है कि मुझे पार्टी से निलंबित किया गया है, लेकिन अभी तक मुझे कोई लिखित नोटिस नहीं मिला है। मैं अभी तक जनता कि सेवा करती आई हूं। जिसे मेरा ट्रैक रिकॉर्ड चेक करना है वो सीधे आकर रायबरेली कि जनता से पूछ ले। मैं एक छोटे से क्षेत्र कि विधायक हूं, न्यूज़ में बने रहने का मेरा कोई मकसद नहीं है। मैंने हमेशा सच बोला है और अपने क्षेत्र का विकास किया है।

बसों को लेकर सरकार व विपक्ष में घमासान, जानिए यूपी में क्यों मची है सियासी उथल-पुथल

20 May 2020

प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) की मदद करने के लिए कांग्रेस (Congress) की तरफ चला गया एक और दांव नाकाम साबित होता दिख रहा है। श्रमिकों (Migrant Workers) के लिए स्पेशल बसों को चलाने का मुद्दा (Bus Politics) इतना सियासी रंग ले चुका है कि अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की सत्ता पर काबिज भाजपा (BJP) और कांग्रेस (Congress) दोनों ही एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए सियासी रंग दे चुकी है। कांग्रेस (Congress) और भाजपा (BJP) दोनों ही पार्टियां पीछे हटने को तैयार नहीं है। बता दें इससे पहले कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रवासी मजदूरों का किराया भुगतान करने की बात कहीं थी, लेकिन मोदी सरकार ने कहा कि मजदूरों का किराया केंद्र और राज्य सरकारें दे रही है जबकि वास्तविकता यह है कि मजदूरों को ही किराया देना पड़ रहा है। अब राज्य सरकारें कह रही है कि मजदूरों के खाते मे किराए की राशि रिफंड की जाएगी। 

aditi singh

बस मामला : अदिति सिंह के बाद एक और कॉंग्रेसी नेता ने लगाए काँग्रेस पर गंभीर आरोप

20 May 2020

उत्तर प्रदेश में कोरोना (corona) काल के दौरान एक अजीब सी स्थिति अब सामने आ गई है जहां पर अब दो राजनैतिक दल यानि बीजेपी (bjp) और काँग्रेस (congress) एक दूसरे पर मजदूरों को मदद करने के बजाय राजनीति करने का आरोप लगा रही है।   कोरोना (covid19) संकट के बीच प्रवासी मजदूरों को उनके घर वापस भेजने के लिए काँग्रेस पार्टी की तरफ से उत्तर प्रदेश (uttar pradesh) की योगी सरकार (yogi adityanath) को 1000 हजार बसों को भेजने का प्रस्ताव भेजा गया था। 

महाराष्ट्र: संवैधानिक संकट खत्म, सीएम उद्धव ठाकरे ने ली एमएलसी पद की शपथ

18 May 2020

कोरोनाकाल (Coronavirus) के दौरान महाराष्ट्र (Maharashtra Politics) में उपजा संवैधानिक संकट आज समाप्त हो गया है। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे (Maharashtra Chief Minister Uddhav Thackeray) ने सोमवार को बतौर विधान परिषद सदस्य (MLC) शपथ ग्रहण कर ली है। विधान परिषद (MLC) के सदस्य के रूप में सीएम उद्धव ठाकरे सहित नौ लोग पिछले सप्ताह ही निर्विरोध निर्वाचित हो गए थे। आज दोपहर 1 बजे महाराष्ट्र में निर्विरोध निर्वाचित (Maharashtra MLC Election 2020) हुए सभी सदस्यों ने विधान परिषद (MLC) सदस्यता की शपथ ली। 

झारखंड में फ्रंट पर आएंगे पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, बनेंगे नेता प्रतिपक्ष

16 May 2020

झारखंड (Jharkhand) की राजनीतिक में कभी चमकता चेहरा रहने वाले बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi) एक बार फिर से प्रदेश की राजनीति में फ्रंट पर आ गए हैं। 'घर वापसी' करते ही झारखंड में इस आदिवासी नेता की राजनीति फिर से चमकने लगी है। झारखंड (Jharkhand) में पांच साल तक स्थिर सरकार चलाने के बाद भी अपेक्षा से कम सीट मिलने के बाद बीजेपी (BJP) ने यहां पर रघुवर दास की जगह बाबूलाल मरांडी (Babulal Marandi) पर बहुत बड़ा गेम खेला है।

केंद्र सरकार के आर्थिक पैकेज पर चढ़ा सियासी पारा, कांग्रेस ने रखी यह मांग

15 May 2020

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से इस समय देश की आर्थिक 'सेहत' बिगड़ चुकी है। देश की बिगड़ी हालत को सुधारने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंगलवार को 20 लाख के आर्थिक पैकेज (Economic package) की घोषणा की है। आर्थिक पैकेज (Economic package) की घोषणा के बाद से ही सियासी पारा चढ़ गया है। कांग्रेस (Congress) ने पीएम मोदी (PM Modi) के इस एलान को सिर्फ मीडिया की ‘हेडलाइन’ बताया है। इस राहत पैकेज (Economic package) में प्रवासी श्रमिकों (Migrant Labourers)  के लिए कोई ‘हेल्पलाइन’ नहीं है। वहीं, भाजपा (BJP) ने इसे दुनिया का सबसे बड़ा 'समग्र राहत पैकेज' बताया है। कांग्रेस (Congress) ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें रास्ते में चलते हुए प्रवासी मजदूर (Migrant Labourers) नहीं नजर आ रहे हैं। माकपा ने कहा कि पीएम मोदी (PM Modi) की चुप्पी जनता को निराश करने वाली है। 

आत्मनिर्भर भारत अभियान : स्वदेशी पर इस तरह जोर दे रही सरकार

14 May 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  (Narendra Modi) ने अपने हालिया संबोधन में 'एक आत्मनिर्भर भारत के निर्माण' का वादा किया है। उन्होंने (Prime Minister Narendra Modi) ने देशवासियों से आत्मनिर्भर (self-reliant) बनने का आह्वान किया है। पीएम मोदी ने कहा, 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' (Atmanirbhar Bharat Abhiyan), उनकी पार्टी की मूल अवधारणा के अनुसार एक महत्वाकांक्षी परियोजना है जिसका उद्देश्य देश को कोविड-19 महामारी के दुष्प्रभावों से लड़ना नहीं है, बल्कि इस बीमारी के बाद भी भविष्य के भारत का पुनर्निर्माण करना है। इस बीमारी को लेकर उन्होंने कहा, "अब एक नई प्राणशक्ति, नई संकल्पशक्ति के साथ हमें आगे बढ़ना है।" 

prime minister video conferencing

PM मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ मीटिंग शुरू, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चा

11 May 2020

कोरोना वायरस (Corona Virus) के मामले देश में बढ़ते जा रहे हैं। इससे बचाव के लिए केन्द्र और प्रदेश सरकारें अपने स्तर से कार्य कर रही हैं। इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए केन्द्र सरकार ने 24 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) लागू कर रखा है। सरकार इस लॉकडाउन (Lockdown) को दो बार पहले भी बढ़ा चुकी है। अब इसकी अवधि 17 मई को फिर से खत्म होने वाली है। लॉकडाउन को आगे बढ़ाने व अन्य योजनाओं के बारे में मंथन के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) विभिन्न प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) से चर्चा कर रहे हैं।

ajit jogi

सपनों के सौदागर कहे जाने वाले अजीत जोगी अस्पताल में, टेप कांड का लगा था आरोप

11 May 2020

9 मई को अजीत जोगी (Ajit Jogi) के बेटे अमित जोगी ने ट्विटर पर लिखा, पापा की तबीयत बहुत गंभीर है। सोमवार को अजीत जोगी को लेकर चौथा मेडिकल समाचार जारी किया गया जिसमें श्री नारायण अस्पताल रायपुर द्वारा बताया गया कि अजीत जोगी (Ajit Jogi) की तबीयत चिंताजनक है।डॉ. खेमका ने अफवाह बताया अजीत जोगी रायपुर (Chhattisgarh) स्थित अपने बंगले के लॉन में गंगा इमली खा रहे थे। तभी इमली का एक बीज उनकी सांस नली में अ​टक गया था। जोगी को कार्डियक अरेस्ट के बाद रायपुर के श्री नारायण अस्पताल में भर्ती कराया गया। वह‍ फिलहाल कोमा में हैं, और 10 मई की देर रात सोशल मीडिया पर उनके निधन की खबर फैलने लगी। तुरंत श्री नारायण अस्पताल रायपुर की ओर से डायरेक्टर डॉ. सुनील खेमका ने एक वीडियो बयान जारी करते हुए खबर को झूठा बताया।

सोसाइटी से

अन्य खबरें

new zealand team

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सुषमा स्वराज का निधन, अचानक मृत्यु से पूरे देश में उठी शोक की लहर

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर