भारत के बैंक अब एशिया के टॉप बैंकों के बीच नज़र आएंगे। दरअसल, हाल ही में एशिया पैसिफिक के टॉप-50 बैंकों की लिस्ट जारी की गयी है, जिसमें भारतीय मूल के भी तीन बैंक शामिल हैं। इसमें निजी सेक्टर के दो बैंक आईसीआईसीआई और एचडीएफसी के साथ सरकारी बैंक एसबीआई ने अपनी जगह बनाई है। हालांकि इस लिस्ट में एसबीआई और एचडीएफसी बैंक पहले से ही शामिल हैं, आईसीआईसीआई बैंक इस लिस्ट में पहली बार शामिल हुआ है। 

आईसीआईसीआई बैंक 226 अरब डॉलर के असेट के साथ इस लिस्ट में शामिल हुआ है। भारत के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक इस लिस्ट में 695 अरब डॉलर के साथ 22वें नंबर पर है, जो पिछली बार से दो स्तर ऊपर चढ़ा है। वहीं एचडीएफसी बैंक इस लिस्ट में 44वें नंबर पर है, जो पिछले साल 46वें नंबर पर था। 

वहीं, चीनी बैंकों की स्थिति पर नजर डाले तो लिस्ट में साफ तौर इसका दबदबा दिखाई पड़ता है। टॉप-50 की इस लिस्ट में 22 बैंक चीन के हैं। जबकि टॉप-10 में से 6 बैंक चीन के हैं। इन सबके असेट की एक साथ वैल्यू देखें तो 2021 के अंत तक यह 34.52 ट्रिलियन डॉलर है। यह आंकड़ा पिछले साल के मुकाबले 10 फीसदी अधिक है। इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड, चाइना कंस्ट्रक्शन बैंक कॉर्प, एग्रीकल्चर बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड और बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड ने एशिया पैसिफिक के सबसे बड़े बैंक होने का अपना दबदबा बरकरार रखा है।

गौरतलब है कि ग्लोबल रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पूअर की शाखा एस एंड पी मार्केट इंटेलिजेंस के अनुसार चीन गुआंग्फा बैंक कंपनी लिमिटेड ने सबसे लंबी छलांग लगाई है और 35वें नंबर से 31वें नंबर पर पहुंच गया है। इसके चलते कुल असेट्स साल दर साल के आधार पर करीब 30 फीसदी बढ़कर 30 जून 2021 तक 493.36 अरब डॉलर हो गए हैं। वहीं दूसरी ओर, जापान का फुकुओका फाइनेंशियल ग्रुप इंक 43वें नंबर से फिसल कर 48 वें नंबर पर आ गया है। मलेशिया के Malayan Banking Bhd. और जापान के Mebuki Financial Group Inc. की रेटिंग इस लिस्ट में गिरी है।

Zeen is a next generation WordPress theme. It’s powerful, beautifully designed and comes with everything you need to engage your visitors and increase conversions.