सब्सक्राइब करें

बिजनेस

कोरोना वायरस : छोटे कारोबारियों की मदद करेंगे 12 सरकारी बैंक, देंगे इमरजेंसी लोन

28 March 2020

लॉकडाउन होने की वजह से देश में व्यापार ठप हो गया है। व्यापार ठप होने की वजह से आम लोगों और छोटे कारोबारियों के सामने आर्थिक संकट भी खड़ा हो गया है। कारोबारियों के सामने आए इस संकट को दूर करने के लिए सरकारी बैंकों ने अच्छी पहल शुरू की है। देश की बड़ी 12 सरकारी बैंक इससे निपटने के लिए कारोबारियों को इमरजेंसी लोन देने के लिए तैयारी की है। बैंकों ने खास रिलीफ लोन के प्लान व्यापारियों, नौकरशाहों और पेंशनरों के लिए तैयार किए है। वहीं, इस बंदी से बुरी तरह प्रभावित होने वाले सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (एमएसएमई) सेक्टर को भी उभारने के लिए बैकों ने खास स्कीम बनाई है। 

Ayurvedic Garden

सेनेटाइजर के अलावा इन सामानों की बड़ी बिक्री, जानें मार्केट का हाल

21 March 2020

कोरोना वायरस को लेकर इस समय पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। देश में एक के बाद एक करके मरीजों की संख्या में इजाफ होता जा रहा है। यही नही, कोरोना वायरस की वजह से देश में लगातार मामले बढ़ने की वजह से देश में अधिकतर जगहों पर बाजार बंद कर दिए गए है। लोगों को घरों से काम करने की सलाह दी गई हैं। यही नहीं, 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगने जा रहा है। इस दिन पूरे देश में बाजार बंद रहेंगे। 

जानें बीएस-6 में क्या होंगी खूबियां, 31 मार्च को अलविदा हो जाएंगी बीएस-4 की गाड़ियां

20 March 2020

देश में पहली अप्रैल से ऑटोमोबाइल सेक्टर में बहुत बड़ा बदलाव होने जा रहा है। अब मार्केट में स्टेज-6 (बीएस-6) पेट्रोल और डीजल की गाड़ियां मिलना शुरू हो जाएंगी। यानी 1 अप्रैल से मार्केट में स्टेज-4 (बीएस-4) की गाड़ियां मिलना बंद हो जाएंगी। बीएस-4 की गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन पहली अप्रैल से परिवहन विभाग में नहीं होगा। फेडरेशन ऑफ ओटोमोबील डीलर एसोसिएशन की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने बीएस-4 मॉडल की गाड़ियों पर कुछ भी सुनने से मना कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा, बीएस-4 स्टेट की गाड़ियों की बिक्री की सीमा को 31 मार्च से आगे बढ़ाने की दायर याचिका पर सुनवाई करने से साफ इनकार कर दिया।

यस बैंक: ईडी कार्यालय पहुंचे अनिल अंबानी, मनी लांड्रिंग मामले में हो रही पूछताछ

19 March 2020

यस बैंक के संकट में आने के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) सक्रिय होकर काम कर रहा है। इसी क्रम में रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी से आज मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पूछताछ कर रही है। बता दें अनिल अंबानी सहित तीन अन्य उद्योग समूहों के प्रमुखों को खराब कर्ज के मामले में गुरुवार को पेश होने के लिए कहा गया था। यही नहीं जारी समन पर अनिल अंबानी सोमवार को व्यक्तिगत तौर पर पेश होने के लिए कहा था, ईडी ने उन्हें गुरुवार (19 मार्च) को पेश होने के लिए कहा था।  

debit and credit card

डेबिट और क्रेडिट कार्ड की सर्विसेज में आज से हो गए हैं ये बड़े बदलाव

16 March 2020

रिजर्व बैंक ने डिजिटल ट्रांजेक्शन के फ्रॉड को रोकने और यूजर्स को कई अन्य सुविधाएं देने के मकसद से नए नियम लागू कर दिए हैं। यह नियम आज 16 मार्च से लागू हो गए हैं। इसमें क्रेडिट और डेबिट कार्ड को जब चाहे तब चालू या बंद करने की भी सुविधा दी गई है। इसके साथ ही कई अन्य महत्वपूर्ण बदलाव भी किए गए हैं।

ईडी ने रिलायंस समूह के चेयरमैन को भेजा समन, जानें क्या है मामला

16 March 2020

यस बैंक के फाउंडर राणा कूपर सहित अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी को तलब किया है। ईडी ने समन भेजकर यस बैंक की तरफ से लोन लेने के मामले में पूछताछ करने के लिए पेश होने को कहा है। हालांकि अनिल अंबानी ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए ईडी से कुछ वक्त का समय मांगा है। उनकी लीगल टीम ने ईडी ने नई तारीख जारी करने को कहा है। 

एसबीआई, आईसीआईसीआई के बाद यस बैंक में यह निजी बैंक करेगी करोड़ों का निवेश

14 March 2020

यस बैंक को संकट से उभारने के लिए भारत के कई बैंक आगे आए हैं। भारतीय स्टेट बैंक ने जहां 7,250 करोड़ रुपये का निवेश किया है, तो वहीं निजी क्षेत्र की बंधन बैंक यस बैंक को पैसा देने जा रही है। संकट में फंसे यस बैंक में रिजर्व बैंक की पुनर्गठन योजना के तहत 300 करोड़ रुपये का निवेश करने की घोषणा की है। बंधन बैंक ने शुक्रवार की देर रात शेयर बाजारों को भेजी गई सूचना में कहा कि बैंक के निदेशक मंडल ने यस बैंक के दो रुपये प्रत्येक के 30 करोड़ शेयर आठ रुपये प्रति शेयर के प्रीमियम पर खरीदने की मंजूरी दे दी है। इस अब शेयर के जरिए यस बैंक में 300 करोड़ रुपये का निवेश बंधन बैंक करेगी। 

sensex

कोरोना का कहर: सेंसेक्स में भारी गिरावट के बाद अब रिकवरी

13 March 2020

कोरोना वायरस ने भारत समेत कई देशों में अपना कहर मचा रखा है। इसके चलते ही सरकार ने सैलानियों के वीजा कैंसिल कर दिए और अब शेयर बाजार भी लुढ़क रहा है। गुरूवार को सेंसेक्स में भारी गिरावट होने के बाद बाजार में हलचल तेज हो गई। बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस को विश्व महामारी घोषित कर दिया है और उसके बाद सेंसेक्स व निफ्टी में बड़ा बदलाव देखने को मिला। ऑटो सेक्टर कंपनियों में भी भारी गिरावट देखने को मिली है। भारत के अलावा एशिया के कई बड़े बाजारों में भी गिरावट दर्ज हुई है। सेंसेक्स खुलते ही 3,000 अंक लुढ़ककर 29,687 पर पहुंच गया। वहीं, निफ्टी 989 अंक टूटकर 9,059 पर खुला। इस हालात को देखकर शेयर बाजार में लोअर सर्किट लगा दिया गया है यानि अगले 45 मिनट के लिए कारोबार बंद कर दिया गया और उसके बाद अब रिकवरी दर्ज हुई। अगले 40 मिनट में शेयर बाजार में एक बार फिर बढ़त दर्ज की गई। सेंसेक्‍स 400 अंक से अधिक मजबूत हुआ तो वहीं निफ्टी में भी सुधार होता दिखा।

यस बैंक के ग्राहकों को बड़ी राहत, एसबीआई करेगी करोड़ों रुपये का निवेश

07 March 2020

यस बैंक के संकट में सारथी एसबीआई बनने जा रहा है। जी हां, यस बैंक संकट पर एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने शनिवार को यस बैंक के जमाकर्माओं का पैसा पूरी तरह से सुरक्षित रहेगा। यस बैंक के खाताधारकों में जिस तरह का भय व्याप्त है, उसको देखते हुए एसबीआई ने निवेश करने का निर्णय लिया है। यस बैंक में एसबीआई 2,450 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रही है। 

यस बैंक में जमा है पैसा, तो घबराएं नहीं, आपका इतना पैसा रहेगा सुरक्षित

06 March 2020

अगर आपका पैसा यस बैंक में जमा है, तो फिर आपको घबराने की जरूरत नहीं है। यस बैंक ने आरबीआई पर नकेल कस दी है और अब ग्राहक 50 हजार रुपये से ज्यादा निकासी नहीं कर सकेंगे। आरबीआई ने यह रोक 3 अप्रैल तक के लिए लगाई है और बैंक के मैंनेजमेंट को टेकओवर भी कर लिया है। आरबीआई ने यह भी स्पष्ट किया है कि चाहे कितने भी खाते हो, लेकिन 50,000 रुपये से ज्यादा नहीं निकाल सकेंगे। आरबीआई ने बैंक को टेकअप कर लिया है और वित्त मंत्रालय ने यस बैंक को लेकर आदेश जारी भी कर दिया है। बता दें आरबीआई के इस आदेश के बाद ही यस बैंक के एटीएम पर लोगों की भारी भीड़ जुट गई है। वैसे, बैंक की हालत को देखते हुए अब नेट बैंकिंग और एटीएम सेवा भी बंद कर दी गई है।

सोसाइटी से

अन्य खबरें

new zealand team

वनडे में क्लीन स्वीप के बाद न्यूजीलैंड ने टेस्ट के लिए घोषित की टीम

पढ़िए, क्यों राहुल की वजह से पीएम पद से इस्तीफा देना चाहते थे मनमोहन

पराली की समस्या का इन युवाओं ने ढूंढा हल, बना रहे यह सामान

अनुच्छेद 370 के बारे में वह सबकुछ जो आपके लिए जानना जरूरी है

सुषमा स्वराज का निधन, अचानक मृत्यु से पूरे देश में उठी शोक की लहर

सब्सक्राइब न्यूज़लेटर