ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि देव को 9 ग्रहों में से सबसे क्रोधित ग्रह माना जाता है। शनि देव को न्याय का देवता भी कहते हैं। जिस पर इनकी कृपा रहती है तो उससे यह काफी प्रसन्न रहते हैं। वही जिनके बुरे कर्म होते हैं तो वह उनके लिए कई समस्याएं खड़ी कर देते हैं।

व्यक्ति के कर्मों के अनुसार शनि देव दंड देते हैं। नवग्रहों में यह सबसे धीमी गति से चलते हैं। ऐसे में व्यक्ति की कुंडली में शुभ और अशुभ प्रभाव काफी दिनों तक देखने को मिलता है। दरअसल आज जिस विषय में बात करेंगे वह व्यक्ति की ऐसी पांच खराब आदतों के बारे में हैं जिससे कि व्यक्ति शनि देव के क्रोध का भागी बन जाता है। आइए विस्तार में व्यक्ति की इन खराब आदतों के बारे में जानें

बड़ों का सम्मान ना करने की आदत

जो व्यक्ति असहाय या फिर अपने से बड़े लोगों का सम्मान नहीं करता है तो उस पर शनि देव क्रोधित रहते हैं। ऐसे लोगों को सोसायटी में मान सम्मान नहीं मिलता है, पूरी जिदंगी इनकी कष्टों में बितती है साथ ही इन्हें जिंदगी भर टेंशन रहती है।

पैर घसीट कर चलने की आदत

जो व्यक्ति पैर घसीट कर चलते हैं उनसे शनि देव क्रोध में रहते हैं। ऐसे में इन्हें आर्थिक समस्या या फिर बनते काम को बिगड़ते हुए देखना पड़ता है।

Zeen is a next generation WordPress theme. It’s powerful, beautifully designed and comes with everything you need to engage your visitors and increase conversions.