सुकमा नक्सली हमला : शहीद जवान की पत्नी ने मुआवजा लेने से किया इनकार

शहीद की पत्नी ने राशि लेने से किया इनकार करते हुए कहा कि राज्य सरकार शहीद का अपमान कर रही है।

सुकमा नक्सली हमला : शहीद जवान की पत्नी ने कहा-नहीं चाहिए पांच लाख रुपये

छत्तीसगढ़ के सुकमा स्‍थित किस्टाराम एरिया में मंगलवार को नक्सली हमले में शहीद हुए मुंगेर जिले के जमालपुर के सिकंदरपुर गांव के निवासी अजय यादव की पत्नी ने राज्य सरकार की तरफ से दी गई पांच लाख की राशि लेने से मना कर दिया है। शहीद की पत्नी ने राशि लेने से किया इनकार करते हुए कहा कि राज्य सरकार शहीद का अपमान कर रही है। उन्होंने कहा कि इतनी राशि तो सड़क हादसे में मौत के बाद भी सरकार देती है। मंगलवार को सुकमा में नक्सलियों ने आइइडी विस्फोट की घटना को अंजाम दिया, जिसमें सीआरपीएफ के 212 बटालियन के नौ जवान शहीद हो गए। इनमें एक बिहार के मुंगेर जिले के जमालपुर के सिकंदरपुर गांव के रहने वाले अजय कुमार यादव भी शहीद हो गए हैं।  अजय कुमार यादव मूलरूप से मुंगेर जिला के जमालपुर अनुमंडल के सिकंदरपुर के रहने वाले हैं। राज्य पुलिस मुख्यालय के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में कोबरा बटालियन को टारगेट करने वाला नक्सली दस्ता झारखंड के रास्ते बिहार के सीमावर्ती जिलों में पनाह ले सकता है। इस मद्देनजर झारखंड से लगे बिहार के सभी सीमावर्ती जिलों को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

ट्रंप प्रशासन में बड़ी उठापटक, विदेश मंत्री टिलरसन को हटाया, सीआईए प्रमुख पॉम्पियो को सौंपा पद

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को बर्खास्त कर दिया और सीआईए के मौजूदा निदेशक माइक पॉम्पियो को यह पद सौंप दिया। जबकि देश की खुफिया एजेंसी सीआईए की बागडोर उन्होंने जीना हास्पेल को सौंपी है। जीना अमेरिका की पहली महिला सीआईए निदेशक होंगी। डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर खुद यह जानकारी दी। टिलरसन को ऐसे समय पद से हटाया गया है कि जब वह अफ्रीका के दौरे पर हैं। ट्रंप ने उनकी सेवाओं के लिए उन्हें धन्यवाद भी दिया। ट्रंप ने ट्वीट में कहा, ‘पॉम्पियो अब हमारे विदेश मंत्री होंगे। उम्मीद है वह बढ़िया काम करेंगे।’ ट्रंप के अचानक से लिए गए इस फैसले से सभी हैरान हैं। इसे ट्रंप प्रशासन की सबसे बड़ी उठापटक माना जा रहा है। हाल के दिनों में टिलरसन और ट्रंप के बीच कई मतभेद दिखाई दिए। बताया जा रहा है कि टिलरसन विदेश नीति में दखल नहीं चाहते थे। जबकि ट्रंप का विदेश नीति में दखल अधिक है। यह बात भी सामने आई है कि पिछले साल एक अहम बैठक के दौरान दोनों के बीच विवाद इस कदर बढ़ गया था कि टिलरसन ने सभी के सामने ट्रंप को बेवकूफ तक कह डाला था। तब से ट्रंप उन्हें इस पद से हटानी की फिराक में थे। हालांकि पिछले साल दिसंबर में ट्रंप ने इन खबरों को खारिज किया कि टिलरसन के गिनती के दिन बचे हैं। ट्रंप ने कहा कि हम दोनों मिलकर अच्छा काम कर रहे हैं।

काम के प्रेशर के बीच आगे बढ़ने की प्लानिंग कर रहे हैं विराट

दुनिया के फिट क्रिकेटरों में शूमार टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने बताया कि उनपर काम का प्रेशर बहुत है और इसने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। इसलिए उन्हें ज्यादा सावधान रहना होगा कि अपने शरीर, दिमाग और क्रिकेट के साथ अपने करियर में कैसे आगे बढ़ें। उन्होंने कहा कि अब वक्त आ गया है कि वह अपने शरीर की जरूरत को समझें और अपने करियर को आगे बढ़ाने के लिए काम के बोझ को मैनेज करें। 

कमेंट्स लिखें