बेटी के सपनों की खातिर ऑटो ड्राइवर पिता ने खरीदी 5 लाख की रायफल

फोटो: Facebook

आमतौर पर बेटे और बेटियों में एक फर्क बहुत कॉमन देखा गया है। बच्चे जब छोटे होते हैं तो बेटियां खेलने के लिए गुड़िया और बेटे बंदूक जैसे खिलौने की मांग करते हैं। हालांकि ऐसा हमेशा नहीं होता है! ऐसी ही है आज की कहानी... मनीलाल की बिटिया को बंदूकों से खेलने का शौक था।

आगे पढ़ें

कमेंट्स लिखें