नेत्रहीन तारा करती हैं खेती, एक फैसले से बदल दी कई दिव्‍यांगों की जिंदगी

नेत्रहीन ताराबाई बस छूने के बाद ही बता देती हैं हर पौधे का नाम। साभार : सोशल मीडिया

तारा बाई की कहानी भी अन्‍य नेत्रहीनों की जिंदगी जितनी ही मुश्‍किल और त्रासदी भरी है। मगर उनकी कहानी में बदलाव तब आया जब उन्‍होंने अपनी पहचान बनाने के लिए कुछ अलग करने की ठान ली।

आगे पढ़ें

कमेंट्स लिखें