अपने 'परमेश्वर' के लिए 'देवता' को मुफ्त खिलाती हैं खाना

फोटो: Facebook@Sundari-Akka-Kadai

किसी भी स्त्री के लिए उसका पति परमेश्वर होता है, और एक बिजनेस करने वाले के लिए उसका ग्राहक भगवान होता है। इन्हीं पति परमेश्वर और ग्राहक देवता की है ये कहानी...

साल 2005 में एस. सुंदरी के पति का हार्ट अटैक से निधन हो गया था। वह तब से लेकर अब तक अपने पति की बरसी पर लोगों को मुफ्त में खाना खिला रही हैं। सुंदरी का कहना है कि यह उनका अपने पति को श्रद्धांजलि देने का तरीका है।

आगे पढ़ें

कमेंट्स लिखें